इंद्राणी की हालत स्थिर पर ख़तरा बरक़रार

  • 3 अक्तूबर 2015
इंद्राणी मुखर्जी इमेज कॉपीरइट AFP

शीना-बोरा हत्याकांड में अभियुक्त इंद्राणी मुख़र्जी की हालत स्थिर है लेकिन वह अब तक ख़तरे से बाहर नहीं हैं.

शुक्रवार दोपहर उन्हें बेहोशी की हालत में मुंबई के जे जे अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

जे जे अस्पताल के डीन डॉ तात्याराव लाहाने के अनुसार इंद्राणी मुख़र्जी के खून और पेशाब के नमूने जाँच के लिए भेजे गए थे जिनकी रिपोर्ट के मुताबिक़ इंद्राणी ने कोई अफ़ीम वाली दवा नहीं खाई थी.

डॉ लहाने ने बताया, "हमने उनके पेट के अंदर के पदार्थ भी जाँच के लिए भेजे हैं. उनकी रिपोर्ट तीन दिन बाद मिलेगी." उन्होंने कहा कि इंद्राणी की हालत स्थिर है लेकिन उन्हें अगले 72 घंटों तक निरीक्षण में रखा जाएगा.

जांच के आदेश

इस बीच महाराष्ट्र के गृह विभाग ने इस मामले की जाँच के आदेश दिए हैं कि आख़िर इंद्राणी को इतना मात्रा में दवाइयाँ कैसे मिलीं.

इंस्पेक्टर जनरल, कारागार बिपिन कुमार सिंह ने बताया, "यह गंभीर मामला है. आमतौर पर किसी भी बंदी को कारागार के डॉक्टर की निगरानी में रोज़मर्रा की दवाइयां दी जाती है ताकि कोई समस्या न हो. हम इस बात की जांच कर रहे है कि इंद्राणी मुख़र्जी के पास ओवरडोज़ करने की मात्रा में दवाइयाँ कहाँ से आईं."

आरोप है कि हाईप्रोफाइल मीडिया हस्ती इंद्राणी मुखर्जी अपनी बेटी शीना की हत्या में कथित रूप से शामिल हैं.

इंद्राणी स्टार इंडिया के प्रमुख रहे पीटर मुखर्जी की बीवी हैं.

इमेज कॉपीरइट AFP GETTY
Image caption राकेश मारिया इस मामले की जांच की देखरेख खुद कर रहे थे.

इस मामले की जाँच के वक़्त राकेश मारिया मुंबई के पुलिस आयुक्त थे, जो जांच की देखरेख खुद कर रहे थे.

इसी बीच मारिया को मुंबई के पुलिस आयुक्त के पद से हटा दिया गया. उन्हें पदोन्नति देकर डीजी (होमगार्ड) बनाया गया.

उनकी जगह जावेद अहमद को मुंबई का पुलिस कमिश्नर बनाया गया.

फिर ये मामला सीबीआई को सौंप दिया गया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार