दादरी में पीड़ित परिवार से मिले केजरीवाल

  • 3 अक्तूबर 2015
केजरीवाल का ट्वीट इमेज कॉपीरइट Twitter

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दादरी के बिसराड़ा गाँव पहुंचकर ग्रामीणों से मुलाक़ात की है.

इससे पहले उन्हें स्थानीय प्रशासन ने रास्ते में ही रोककर एक गेस्ट हाउस भेज दिया था. इस पर केजरीवाल ने कड़ी नाराज़गी जताई थी.

अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर बताया कि उन्हें बिसराड़ा गांव के रास्ते में ही रोका गया. स्थानीय पुलिस उन्हें एक गेस्ट हाउस में ले गई.

आप नेता आशुतोष, संजय सिंह और कुमार विश्वास भी केजरीवाल के साथ हैं.

पुलिस का कहना है कि सुरक्षा कारणों से केजरीवाल को गेस्ट हाउस ले जाया गया . दादरी के पुलिस अधीक्षक संजय सिंह ने कहा कि स्थानीय लोग वीआईपी लोगों के आने-जाने का विरोध कर रहे हैं.

मीडिया पर हमला

शनिवार को मीडिया को बिसराड़ा गांव में विरोध का सामना करना पड़ा.

रिपोर्टों के मुताबिक मीडिया पर हमला भी किया गया जिसमें वाहनों को नुक़सान पहुँचा है.

Image caption अख़लाक़ की हत्या के बाद बड़ी तादाद में मीडियाकर्मी भी बिसराड़ा पहुँचे थे. रिपोर्टों के मुताबिक पुलिस ने मीडिया को भी बिसराड़ा से हटा दिया है.

केजरीवाल का सवाल

केजरीवाल ने सवाल किया, "हमें पुलिस और प्रशासन ने रोक दिया है. कल महेश शर्मा और ओवैसी को नहीं रोका गया था तो फिर मुझे क्यों रोका गया. मैं शांतिप्रेमी हूँ, सिर्फ़ अख़लाक़ के परिवार से मिलना चाहता हूँ."

केजरीवाल ने आगे कहा, "मुझ पर राजनीति करने के आरोप लगाए जा रहे हैं. हाँ मैं राजनीति कर रहा हूँ लेकिन मैं प्यार और एकता की राजनीति कर रहा हूँ. वो नफ़रत की राजनीति कर रहे हैं."

उन्होंने ट्वीट किया, "हम ये विश्वास करते हैं कि हिंदुओं और मुसलमानों को साथ रहना है और वोट बैंक नहीं बनना है. लेकिन वो लोगों को बांटना चाहते हैं."

दिल्ली के नज़दीक उत्तर प्रदेश के दादरी में गोमांस खाने की अफ़वाह पर ग्रामीणों ने अख़लाक़ अहमद की पीट-पीटकर हत्या कर दी थी.

अख़लाक़ की हत्या के बाद भाजपा के सांसद और केंद्रीय मंत्री महेश शर्मा, एआईएमआईएम के नेता असदउद्दीन ओवैसी समेत कई अन्य नेता और सामाजिक कार्यकर्ता दादरी के बिसराड़ा गाँव पहुँचे हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार