मर्केल पहुँची भारत, मोदी ने कहा नमस्ते

जर्मनी की चांसलर एंगेला मर्केल रविवार से भारत के तीन दिन के दौरे हैं और रविवार शाम वो दिल्ली पहुँच गई हैं.

वे भारत में तीसरी इंडो-जर्मन अंतरदेशीय वार्ता में हिस्सा लेंगी जो पाँच अक्तूबर को हो रही है.

भारत और जर्मनी के अच्छे संबंध रहे हैं और आर्थिक साझेदारी भी. यूरोपीय संघ में जर्मनी भारत का सबसे बड़ा व्यापारिक पार्टनर है और भारत में सातवां बड़ा विदेशी निवेशक देश भी.

मर्केल के साथ उनकी कैबिनेट के कई मंत्री भी आए हैं जिसमें विदेश मंत्री, खाद्य और कृषि मंत्री, शिक्षा मंत्री और आर्थिक सहयोग मंत्री शामिल हैं.

इसके अलावा एक उच्च स्तरीय बिज़नेस प्रतिनिधमंडल भी जर्मन चांसलर के साथ आया है.

मोदी से मुलाक़ात

इमेज कॉपीरइट AP

बातचीत के एजेंडे में अर्थव्यवस्था, सुरक्षा, विज्ञान और जलवायु परिवर्तन जैसे मुद्दे शामिल हैं. उम्मीद की जा रही है कि कई समझौतों पर हस्ताक्षर भी हो सकते हैं.

सरकारी कार्यक्रम के मुताबिक एंगेला मर्केल का राष्ट्रपति भवन में स्वागत किया जाएगा जिसके बाद वे राजघाट जाएँगी.

जर्मन चांसलर और प्रधानमंत्री मोदी की भी बैठक होगी और साझा बयान भी जारी किया जाएगा. वे राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से भी मिलेंगी.

दौरे के आख़िरी दिन छह अक्तूबर को वो बंगलुरु जाएँगी जहाँ मोदी भी उनके साथ होंगे जहाँ वे बिज़नेस फ़ोरम को संबोधित करेंगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)