मैनपुरी में हिंसा के मामले में 20 गिरफ़्तार

मैनपुरी में बवाल इमेज कॉपीरइट PTI

उत्तर प्रदेश में मैनपुरी ज़िले में करहल ब्लॉक में शुक्रवार सुबह कथित गोहत्या को लेकर हुई आगजनी और तोड़-फोड़ के सिलसिले में 20 लोगों को गिरफ़्तार किया गया है.

शुक्रवार रात में हुई इन गिरफ़्तारियों में वो दो व्यक्ति भी शामिल हैं जिन पर गोहत्या का आरोप है. खाल उतारने में जुटे दो अन्य लोग फ़रार हैं.

आगरा रेंज की पुलिस उपमहानिरीक्षक (डीआईजी) लक्ष्मी सिंह ने बताया कि हालाँकि गाय की मौत स्वाभाविक कारणों से हुई है, फिर भी पुलिस ने पोस्ट-मॉर्टम कराने का फ़ैसला किया है.

गोकशी की बात को ग़लत कहते हुए लक्ष्मी सिंह ने कहा कि उसी ब्लॉक के एक व्यक्ति के पास मरे पशुओं के निस्तारण का लाइसेंस था और उसी के अधिकार से वो और तीन अन्य लोग उस गाय की खाल उतार रहे थे कि किसी ने गोहत्या की अफ़वाह फैला दी.

गोरक्षा क़ानून

इमेज कॉपीरइट PTI

डीआईजी के अनुसार इन चारों लोगों के ख़िलाफ़ आईपीसी और गोरक्षा क़ानून के तहत मुकदमा इस बात का लिखा गया है कि ये अपना काम लापरवाही से और सही ढंग से नहीं कर रहे थे.

उन्होंने कहा कि ज़िलाधिकारी और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक करहल में सभी पक्षों के बीच शांतिवार्ता में लगे हुए हैं.

इससे पहले, पिछले महीने दादरी में गोमांस रखने की अफ़वाह फैलने के बाद भीड़ ने एक व्यक्ति की पीट-पीटकर हत्या कर दी थी और उसके बेटे को घायल कर दिया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार