जब एलिस अमिताभ से 'आई लव यू' कहने पहुँचीं

अमिताभ बच्चन का जन्मदिन इमेज कॉपीरइट MADHU PAL

सदी के महानायक कहे जाने वाले अमिताभ बच्चन 73 साल के हो गए हैं और इस मौके पर उन्होंने अपने चाहने वालों का शुक्रिया अदा किया है.

इमेज कॉपीरइट MADHU PAL

अपने जन्मदिन के मौके पर अमिताभ बच्चन हमेशा की तरह इस बार भी पत्रकारों और देश-विदेश से आए अपने चाहने वालों से मुंबई में रूबरू हुए.

इमेज कॉपीरइट MADHU PAL

बचपन के दिनों को याद करते हुए अमिताभ बच्चन ने कहा, "पहले मुझे जन्मदिन पर केक काटना और उपहार लेना बेहद पसंद था लेकिन उम्र के इस पड़ाव में अब ये सब पसंद नहीं. अब मेरी पसंद है कि मैं अपने परिवार के साथ ज़्यादा से ज़्यादा वक़्त बिता सकूँ और अपने लिए बस एक ही दुआ मांगता हूँ कि मैं ज़िंदा रहूँ.''

'आई लव यू कहने आई हूं'

इमेज कॉपीरइट MADHU PAL

बच्चन के बंगले 'जनक' और 'प्रतीक्षा' के सामने सुबह से ही लोगों का जमावड़ा लगा हुआ था.

इमेज कॉपीरइट MADHU PAL

कोई उनके लिए फूलों का गुलदस्ता लाया तो कोई उनकी ही वेशभूषा में नज़र आया.

इमेज कॉपीरइट MADHU PAL

जर्मनी की दो महिलाएं मार्टिलेना और जेनिफर भी उनसे मिलने पहुंचीं. वे बताती हैं, ''हम कल रात भारत आए और सुबह से तेज़ धूप में उनके बंगले के बाहर खड़े थे, लेकिन उनसे मिलने के बाद सारी तक़लीफें भूल चुके हैं.''

वहीं न्यूयॉर्क से आई एलिस कहती हैं, "मैंने उनकी सारी फ़िल्में देखी है. मुझे हिंदी नहीं आती लेकिन उनकी एक्टिंग की दीवानी हूँ. मैं अमिताभ बच्चन से पांच साल पहले मिलने आई थी और अब एक बार फिर आई हूँ, उन्हें आई लव यू कहने के लिए.''

इमेज कॉपीरइट MADHU PAL

अपने चाहने वालों की दीवानगी को देखकर अमिताभ बच्चन कहते हैं, "ये मेरा सौभाग्य है कि लोग मुझसे इतना प्रेम करते हैं. हर किसी को व्यक्तिगत तौर पर मिलना संभव नहीं हैं लेकिन मीडिया के माध्यम से मैं सभी को हाथ जोड़कर प्रणाम करता हूँ कि उनका आशीर्वाद, स्नेह और प्रार्थना मेरे साथ हमेशा रही हैं."

इमेज कॉपीरइट MADHU PAL

''राजनीति का हिस्सा नहीं हूं''

इमेज कॉपीरइट MADHU PAL

जन्मदिन पर अपने पिता हरिवंशराय बच्चन को याद करते हुए वे कहते हैं, " मैं अगर अपने पिता के साथ ज़्यादा वक़्त बिता पाता तो शायद मैं उनकी लेखनी को और गहराई से समझ पाता. मैं आज भी प्रयत्न करता हूँ कि प्रतिदिन उनकी कविता, उनकी आत्मकथा और उनके पत्रों को पढ़ता रहूँ और कई ऐसी चीज़ें ढूंढ़ने की कोशिश करता रहूँ जिससे उनके मायने मेरे जीवन को और मधुर बना दें.''

इमेज कॉपीरइट MADHU PAL

पाकिस्तानी ग़ज़ल गायक ग़ुलाम अली के कार्यक्रम को रद्द करने के बारे में पूछे गए एक सवाल पर अमिताभ ने कहा, "ये एक राजनीतिक मुद्दा बन गया है और मैं राजनीति का हिस्सा नहीं हूं इसलिए इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दे सकता. लेकिन अगर ऐसी कोई बात है कि सरकार कोई नियम बना दे कि ये होना चाहिए वो नहीं होना चाहिए तो हम नियम का पालन करेंगे. हमारे लिए तो वो कलाकार हैं उनके साथ जो राजनीति हो रही है उसमें तो मैं हूँ नहीं."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार