'आरक्षण पर सरकार के बारे में झूठ न फैलाएं'

  • 11 अक्तूबर 2015
नरेंद्र मोदी इमेज कॉपीरइट Reuters

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का कहना है कि आरक्षण के मुद्दे पर उनकी सरकार की राय के बारे में झूठी बातें फैलाई जा रही हैं.

आरक्षण से छेड़छाड़ की तो आंदोलन: मायावती

मुंबई में एक रैली को संबोधित करते हुए नरेंद्र मोदी ने कहा, ''हम राज्यों में जहाँ-जहाँ जाते हैं, वहाँ ये प्रचार करने की कोशिश की जाती है कि आरक्षण ख़त्म हो जाएगा, हम आरक्षण ख़त्म करने जा रहे हैं.''

उन्होंने कहा, ''समाज में दलित, पीड़ित, शोषित-वंचित ग़रीब के लिए बहुत कुछ करना बाकी है. इस तरह का प्रचार बंद हो. समाज को भयभीत करने, शंकित करने का काम बंद हो.''

संघ के आरक्षण संबंधी बयान पर गरमाई राजनीति

इमेज कॉपीरइट PTI

पिछले महीने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के प्रमुख मोहन भागवत ने आरक्षण की नीति पर पुनर्विचार की वकालत की थी.

उन्होंने कहा था कि यह तय होना चाहिए कि कितने लोगों को कितने दिनों तक आरक्षण दिया जाना चाहिए.

उनके इस बयान के बाद सियासी हलकों में आरक्षण का मुद्दा एक बार फिर उछला था.

आरक्षण पर नए सिरे से बहस की ज़रूरत?

इमेज कॉपीरइट AFP

आरक्षण के मुद्दे पर बहस शुरू होने के बाद मायावती और लालू प्रसाद यादव जैसे नेता मोदी सरकार को आड़े हाथों लेते रहे हैं.

बिहार विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान भी गाहे-बगाहे इस मुद्दे पर बयानबाज़ी होती रही है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार