पुलिस ने हार्दिक पटेल को गिरफ़्तार किया

हार्दिक पटेल इमेज कॉपीरइट AFP

पटेल समुदाय के नेता हार्दिक पटेल की भारत-दक्षिण अफ्रीका वनडे को बाधित करने की चेतावनी के बाद गुजरात पुलिस ने उन्हें एहतियात के तौर पर गिरफ़्तार कर लिया है.

उन्हें रविवार दोपहर को पहले स्टेडियम की ओर जाने से रोका गया और फिर कुछ साथियों के साथ राजकोट स्टेडियम से दो किलोमीटर दूर जामनगर-राजकोट हाइवे पर गिरफ़्तार कर लिया गया.

जामनगर के पुलिस अधीक्षक प्रदीप शाजुल ने बीबीसी को बताया, "उन पर पहले से नज़र रखी जा रही थी. जब वे किसान के भेस में स्टेडियम की तरफ़ निकले तो राजकोट की पुलिस ने उन्हें एहतियात के तौर पर गिरफ़्तार कर लिया."

राजकोट में भारत और दक्षिण अफ़्रीका के बीच तीसरा वनडे खेला जा रहा है.

हार्दिक पटेल ने पटेलों के लिए आरक्षण की मांग के समर्थन में इस मैच में बाधा डालने की धमकी दी थी. इस धमकी के चलते मैच में सुरक्षा के बेहद कड़े इंतजाम किए गए हैं.

राजकोट के पुलिस आयुक्त मोहन झा ने बीबीसी को बताया कि मैच के दौरान गड़बड़ी की आशंका को देखते हुए 2500 पुलिसकर्मियों को स्टेडियम के अंदर और बाहर तैनात किया गया है.

स्टेडियम के बाहर की सुरक्षा आरएएफ़ के हाथों में है जबकि स्टेडियम के अंदर हर स्टैंड पर राज्य पुलिस बल के जवान मुस्तैद रहेंगे.

महिला दर्शकों की जांच

हार्दिक पटेल ने भारत और दक्षिण अफ्रीका की टीमों का रास्ता रोकने की धमकी दी थी लेकिन दोनों टीमें स्टेडियम में पहुंच चुकी हैं

पटेल आरक्षण को लेकर इससे पहले हुए प्रदर्शनों में महिलाओं ने बढ़चढ़कर हिस्सा लिया था.

इसे देखते हुए महिला दर्शकों की कड़ी सुरक्षा जांच के लिए पर्याप्त संख्या में महिला पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है.

हार्दिक पटेल ने धमकी दी थी कि उनके आंदोलनकारी टीशर्ट पर अपनी मांगों के समर्थन में नारे लिखकर स्टेडियम में जाएंगे.

सुरक्षाकर्मी टीशर्ट पहने दर्शकों की विशेष जांच कर रहे हैं.

निषेधाज्ञा

इमेज कॉपीरइट AFP

स्टेडियम के एक किलोमीटर के दायरे में निषेधाज्ञा लगाई गई है जिससे दर्शकों को स्टेडियम पहुंचने के लिए लंबा रास्ता पैदल तय करना पड़ रहा है.

हार्दिक की 'हठी राजनीति' के मायने

इससे पहले ज़िला प्रशासन ने शनिवार रात से ही मोबाइल-इंटरनेट सेवाओं पर रोक लगा दी थी.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक़, ज़िला कलेक्टर मनीषा चंद्रा का कहना है, ''हमने शनिवार रात 10 बजे से 19 अक्तूबर सुबह 8 बजे तक मोबाइल इंटरनेट सेवा पर रोक लगाने का फ़ैसला किया है.''

उनका कहना है कि यह रोक शांति-व्यवस्था बनाए रखने, अफ़वाहों को रोकने और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच को बाधित होने से बचाने के लिए लगायी गयी है.

पटेल की धमकी

इमेज कॉपीरइट AFP. FACEBOOK

हार्दिक पटेल का कहना है कि उनके समुदाय के लोगों के पास मैच के टिकट हैं और वे स्टेडियम में दाख़िल होंगे.

उनके सहयोगी दिनेश पटेल का कहना है कि पाटीदार अमानत आंदोलन समिति और सौराष्ट्र इलाक़े में रहने वाले पटेल समुदाय के लोग मैच देखने जाएंगे और यदि उन्हें रोका गया तो राज्य सरकार को पाटीदार समुदाय के ग़ुस्से का सामना करना पड़ेगा.

हार्दिक पटेल ने अपने समुदाय के लोगों से मैच के दौरान बड़ी संख्या में मौजूद रहने की अपील की है ताकि वे ओबीसी कोटे में आरक्षण के लिए सरकार पर दबाव बना सकें.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार