जम्मू कश्मीरः युवक की मौत के बाद कुछ जगह कर्फ़्यू

इमेज कॉपीरइट EPA

भारत प्रशासित जम्मू कश्मीर में ट्रक में पेट्रोल बम फेंके जाने से झुलसे युवक की मौत के बाद स्थानीय लोगों के बीच भारी आक्रोश है.

इस घटना को स्थानीय लोग गोहत्या के मुद्दे या बीफ़ की बिक्री पर पाबंदी के साथ जोड़कर देख रहे हैं.

स्थिति की गंभीरता को देखते हुए राजधानी श्रीनगर और दक्षिण कश्मीर के कुछ इलाकों में कर्फ्यू लगा दिया है.

इमेज कॉपीरइट MAJID JAHANGIR

इसके अलावा कई परीक्षाएं और इंटरव्यू भी स्थगित कर दिए गए हैं.

दूसरी ओर अधिकारियों ने अलगाववादी नेताओं को घरों में बने रहने की हिदायत दी है. उनके आवास के बाहर पुलिस और अर्धसैन्य बल की टुकड़ियां तैनात की गई हैं.

24 साल के जाहिद और उनके दो सहयोगी उधमपुर में पिछले हफ्ते अपने ट्रक में सोए थे. तभी कुछ लोगों ने ट्रक पर पेट्रोल बम से हमला किया.

इमेज कॉपीरइट MAJID JAHANGIR

जाहिद और उनके एक सहयोगी हमले में 80 फीसदी जल गए.

पुलिस अधिकारी बताते हैं, "जाहिद और उनका सहयोगी ड्राइवर बुरी तरह जल गए जबकि तीसरा व्यक्ति बच निकला."

इस हमले को राज्य में गौहत्या या बीफ की बिक्री पर पाबंदी से जुड़े पुराने हिंदू कानून से जोड़ कर देखा जा रहा है.

इमेज कॉपीरइट EPA

घाटी पुलिस प्रमुख एसएमजे गिलानी ने बताया, "मृतकों का अंतिम संस्कार कर दिया गया है. मृतकों के गृहनगर अनंतनाग में हिंसा की छिटपुट घटनाओं की खबर है. लेकिन हमने सावधानी बरतते हुए सभी इंतजाम किए हैं. फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है."

लेकिन जाहिद की मौत के बाद अलगाववादियों की ओर से व्यापक बंद के साथ ही राजनीतिक स्तर पर भी आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है.

प्रत्यक्षदर्शियों ने जानकारी दी है कि दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग और पुराने श्रीनगर में सड़कों और मोहल्लों में रविवार की रात बड़ी संख्या में पुलिस और अर्धसैन्य बल तैनात रहे.

पुराने श्रीनगर के संवेदनशील माने जाने वाले नवहट्टा इलाके के निवासी अरशद कवा ने बताया, "हमें सुबह की नमाज भी अदा करने की इजाजत नहीं दी गई."

हालांकि पुलिस की ओर से इंटरनेट ब्लॉक नहीं किया गया था.

ट्रक ड्राइवरों पर हुए इस हमले पर 86 सदस्यों वाली विधानसभा में खूब हंगामा हुआ. मुसलमान सदस्यों ने विरोध जताते हुए सदन का बहिष्कार किया था.

मुख्यमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सइद का कहना है कि कम से कम दर्जन भर अभियुक्तों को गिरफ्तार किया गया है.

लेकिन जाहिद की मौत के बाद नए सिरे से विवाद शुरू हो गया है.

मुख्यमंत्री ने ट्रक चालक की मौत पर गहरा दुख जताया है और निंदा करते हुए इसे धर्म के नाम पर 'उभरते ध्रुवीकरण' का नाम दिया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार