हाथ जोड़े मोदी वाले पोस्टर पर विवाद

  • 21 अक्तूबर 2015
शिवसेना का पोस्टर इमेज कॉपीरइट Ashwin Aghore

मुंबई में दादर स्थित शिवसेना मुख्यालय पर लगे एक पोस्टर को लेकर राजनीतिक माहौल गरमा गया है.

इस पोस्टर में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी, भाजपा नेता गोपीनाथ मुंडे और अन्य वरिष्ठ भाजपा नेता शिवसेना प्रमुख बाला साहब ठाकरे के साथ दिखे.

पोस्टर में सबसे बड़ी तस्वीर में नरेन्द्र मोदी बाला साहब ठाकरे के सामने सर झुकाए, हाथ जोड़े दिख रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट AFP

हालांकि जब इस पोस्टर को लेकर राजनीतिक माहौल गरमाने लगा तब शिवसेना ने अपने आप को इस पोस्टर से अलग कर लिया.

शिवसेना प्रवक्ता हर्षल प्रधान ने बीबीसी से बातचीत में कहा, "इस पोस्टर को लेकर शिवसेना के बारे में जो खबरें आ रही है वह ग़लत हैं. हो सकता है हमारे किसी कार्यकर्ता ने गुस्से में आकर यह पोस्टर लगा दिया हो."

शिवसैनिकों ने मुंबई में मशहूर ग़ज़ल गायक ग़ुलाम अली के कार्यक्रम को नहीं होने दिया. फिर पाकिस्तान के पूर्व विदेश मंत्री खुर्शीद महमूद कसूरी की किताब के विमोचन से पहले पूर्व भाजपा नेता सुधींद्र कुलकर्णी पर स्याही फेंकने पर भाजपा नेताओं ने विरोध जताया था.

इसके अलावा पोस्टर में एनसीपी नेता शरद पवार और प्रणव मुखर्जी भी बाला साहब ठाकरे के साथ दिख रहे हैं.

कुछ दिन पहले शिवसैनिकों ने बीसीसीआई के दफ्तर में घुसकर बीसीसीआई अध्यक्ष और पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के अध्यक्ष शहरयार खान की बैठक का विरोध किया था जिसके बाद बैठक रद्द हो गई थी.

शिवसेना के विरोध के चलते आईसीसी ने भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच चल रहे टूर्नामेन्ट से पाकिस्तानी अंपायर अलीम डार को हटा दिया.

इसके अलावा शिवसेना ने पाकिस्तानी कलाकारों की बॉलीवुड फ़िल्में रिलीज़ नहीं होने देने की भी धमकी दे दी है.

इस सब के बीच दादर स्थित पार्टी मुख्यालय के सामने एक पोस्टर लगाया गया.

इमेज कॉपीरइट AP

भाजपा नेता एकनाथ खडसे ने इस पोस्टर पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा, "बालासाहब ठाकरे एक ऐसा व्यक्तित्व थे, जिनके सामने कोई भी नतमस्तक हो जाए. यह उनके प्रति हमारा आदर था. मैं नहीं मानता कि उनके सामने हाथ जोड़ना गलत है."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार