मोदी सरकार मतलब कांग्रेस + गाय: शौरी

मनमोहन सिंह इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption वरिष्ठ भाजपा नेता अरुण शौरी ने कहा है कि लोग अब मनमोहन सिंह को याद करने लगे हैं.

अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में मंत्री रहे वरिष्ठ भाजपा नेता अरुण शौरी ने नरेंद्र मोदी सरकार की आर्थिक नीतियों पर निशाना साधा है.

एक कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि लोग अब डॉक्टर मनमोहन सिंह को याद करने लगे हैं.

अरुण शौरी ने कहा कि नई सरकार की नीतियां कांग्रेस सरकार जैसी ही हैं बस उनमें गाय और जुड़ गई है.

अरुण शौरी ने कहा कि ऐसा लगता है कि सरकार को इस बात में मज़बूत विश्वास है कि अर्थव्यवस्था का प्रबंधन सिर्फ़ अर्थव्यवस्था के बारे में सुर्ख़ियों का प्रबंधन हैं.

उन्होंने कहा कि इससे काम चलने वाला नहीं हैं. उन्होंने यह भी कहा कि ये भारत का अब तक का सबसे कमज़ोर प्रधानमंत्री कार्यालय है.

इमेज कॉपीरइट PTI

अरुण शौरी के इस बयान के बाद ट्विटर पर भी बहस शुरू हो गई.

मिनहाज़ मर्चेंट ने ट्वीट किया, "अरुण शौरी का कहना है कि लोगों ने डॉक्टर मनमोहन सिंह की सरकार को याद करना शुरू कर दिया है. ज़रा बताएं कि हम ख़ास तौर पर किस घोटाले को याद कर रहे हैं."

वरिष्ठ पत्रकार मिलिंद खांडेकर ने लिखा, "अरुण शौरी अब आलोचना कर रहे हैं लेकिन वे बहुत पहले 2009 में मोदी को प्रधानमंत्री बनाने के लिए नामित करने वाले सबसे पहले लोगों में शामिल थे."

इमेज कॉपीरइट AFP

आम आदमी पार्टी के विधायक सोमनाथ भारती ने ट्वीट किया, "ये प्रमाणपत्र किसी बाहरी ने नहीं दिया है. ये प्रतिष्ठित श्री अरुण शौरी ने दिया है. मोदीभक्त अब क्या कहेंगे."

वहीं अंकित लाल ने टिप्पणी करते हुए लिखा, "मनमोहन सिंह को सबसे कमज़ोर प्रधानमंत्री माना जाता था. तो क्या अब ये ट्रॉफ़ी नमो को दे दी गई है."

भाजपा से जुड़े अमित मालवीय ने ट्वीट किया, "अरुण शौरी ने साबित कर दिया कि प्रधानमंत्री का उन्हें बाहर रखने का फ़ैसला सही था."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार