ममता, अरविंद ने केरल भवन में छापे को ग़लत बताया

दिल्ली पुलिस

दिल्ली स्थित केरल भवन में सोमवार को पुलिस के छापे के ख़िलाफ़ केरल के सांसदों ने दिल्ली में प्रदर्शन किया है.

कट्टरपंथी संगठन हिंदू सेना के कुछ कार्यकर्ताओं के साथ दिल्ली पुलिस सोमवार को केरल भवन की केंटीन के मेन्यू में 'बीफ़' होने की शिकायत की जांच कर रही थी.

जहाँ मंगलवार को केरल के सांसदों ने इस छापे पर आपत्ति जताई है, वहीं दिल्ली और पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्रियों ने भी इस घटना पर एतराज़ जताया है.

सांसदों ने कहा कि यह ज़ोर ज़बरदस्ती का मामला है और इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. यह मामला सोशल मीडिया पर भी छाया रहा.

दूसरी ओर हिंदुत्ववादी कार्यकर्ताओं ने केरल भवन के बाहर प्रदर्शन किया और नारे लगाए. केरल भवन में खासी संख्या में पुलिस तैनात की गई है.

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इस मुद्दे पर ट्वीट किया, "क्या दिल्ली पुलिस किसी राज्य के गेस्टहाउस जाकर वहां के मुख्यमंत्री को इस संदेह पर गिरफ़्तार करेगी कि वह ऐसा कुछ खाते हैं जो भाजपा या मोदीजी को पसंद नहीं?"

उन्होंने इसे संघीय ढांचे पर चोट क़रार दिया. केजरीवाल ने ट्विटर पर लिखा, "केरल हाउस में दाख़िल होने का दिल्ली पुलिस को कोई हक़ नहीं है. यह संघीय ढांचे पर हमला है. दिल्ली पुलिस भाजपा सेना की तरह व्यवहार कर रही है."

उन्होंने इस मुद्दे पर केरल के मुख्य मंत्री का खुलकर समर्थन किया, दिल्ली के मुख्य मंत्री ने ट्वीट किया, "मैं केरल हाउस पर हुए दिल्ली पुलिस के छापे की कड़े शब्दों में निंदा करता हूं. मैं केरल के मुख्यमंत्री की इस बात से सहमत हूं कि केरल हाउस सरकारी परिसर है, निजी होटल नहीं है."

ममता बनर्जी ने केरल हाउस पर पुलिस छापे को नागरिकों के निजी अधिकारों का हनन बताया है.

उन्होंने ट्वीट किया, "दिल्ली के केरल भवन में जो कुछ हुआ, मैं उसकी ज़ोरदार निंदा करती हूं. यह अाम लोगों के मौलिक अधिकारों को कुचलने का ग़लत प्रयास है. यह असहिष्णुता है."

दूसरी ओर भारतीय जनता पार्टी ने इस मुद्दे पर दिल्ली पुलिस का समर्थन किया है.

भाजपा के राष्ट्रीय सचिव सिद्धार्थ नाथ सिंह ने ट्वीट किया, "दिल्ली और केरल के मुख्य मंत्री दिल्ली पुलिस की कार्रवाई का राजनीतिकरण कर रहे हैं. दुर्भाग्यपूर्ण है कि उत्तर प्रदेश पुलिस ने ऐसा (रेड) नहीं किया, जिस वजह से दादरी कांड हुआ."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार