बेनेगल पुरस्कार लौटाने को हल नहीं मानते

श्याम बेनेगल

जाने माने फिल्म निर्माता, निर्देशक श्याम बेनेगल ने कहा है कि कलाकारों का अपने पुरस्कार लौटाना किसी भी समस्या का समाधान नहीं है.

टीवी चैनल सीएनएन आईबीएन को दिए एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा कि पुरस्कार देश देता है, सरकार नहीं.

उनका ये बयान ऐसे वक्त आया है जब लेखक और कलाकार देश में बढ़ रही असहिष्णुता के खिलाफ़ लगातार अपने सम्मानों को लौटा रहे हैं.

पुणे फिल्म संस्थान के छात्रों के हड़ताल ख़त्म करने के बाद उनके प्रति समर्थन जताने के लिए बुधवार को ही 12 फिल्मकारों ने अपने राष्ट्रीय पुरस्कार लौटाए थे. इनमें मशहूर फिल्म निर्देशक दिबाकर बैनर्जी और डॉक्यूमेंट्री फिल्म निर्माता आनंद पटवर्द्धन शामिल हैं.

इमेज कॉपीरइट Dibakar Bainerjee

गुरुवार को भारत के वरिष्ठ वैज्ञानिक पीएम भार्गव ने भी अपना पद्म भूषण पुरस्कार लौटाने का ऐलान किया है.

श्याम बेनेगल ने कहा, "मेरी नज़र में पुरस्कार लौटाने का कोई मतलब नहीं है. इससे बेहतर तो यह है कि ये कलाकार और लेखक सरकार को पत्र लिखें और देश को आहत और स्तब्ध कर देने वाली घटनाओं के बारे में अपने सरोकारों को साझा करें."

उनका कहना था कि फिल्म निर्माताओं और फिल्मकारों को इकट्ठा होकर सरकार के पास जाना चाहिए और अपना पक्ष रखना चाहिए कि इस तरह की घटनाओं से अल्संख्यक समुदाय में बहुत डर और अनिश्चितता फैल गई है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार