एसआईटीः 8 महीने की जांच, केस एक भी नहीं

इमेज कॉपीरइट AP

दिल्ली मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में तिलकनगर इलाक़े में 1984 के सिख दंगा पीड़ितों के परिवार को पांच-पांच लाख रुपये का चेक बांटा है.

अगले एक हफ़्ते तक दिल्ली के अलग-अलग इलाक़ों में क़रीब 2600 पीड़ित परिवारों को 130 करोड़ रुपये का मुआवज़ा दिया जाएगा.

केन्द्र सरकार ने पिछले साल मुआवज़े की राशि को बढ़ाकर पांच लाख रुपए कर दिया था.

पिछले साल नवंबर में गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने सात परिवारों को मुआवज़े का चेक दिया था.

हालांकि मीडिया रिपोर्ट में देखा गया है कि 31 साल बाद भी कई पीड़ित परिवारों की नाराज़गी कम नहीं हुई है.

1984 के दंगे में मारे गए लोगों के परिजनों की आज भी यही मांग है कि उन्हें 5 लाख रूपए का चेक नहीं इंसाफ़ चाहिए.

इस बीच अरविंद केजरीवाल ने ट्विट किया है कि दंगों की जांच के लिए एनडीए सरकार ने 8 महीने पहले एसआईटी बनाई थी लेकिन इसने आज तक एक भी केस दर्ज नहीं किया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार