योगी को दिया करारा जवाब हुआ वायरल

अवि डांडिया इमेज कॉपीरइट Avi Dandia
Image caption अवि डांडिया ने फ़ेसबुक पर पोस्ट किए वीडियो में भाजपा सांसद आदित्यनाथ से सवाल किए हैं.

भारतीय मूल के एक अमरीकी नागरिक ने फ़ेसबुक पर शेयर किए वीडियो में भाजपा सांसद योगी आदित्यनाथ को क़रारा जवाब दिया है.

पेशे से हीरो के व्यापारी अवि डांडिया ने सांसद योगी आदित्यनाथ की बालीवुड अभिनेता शाहरुख़ ख़ान के बारे में टिप्पणियों पर अपनी राय रखी है.

फ़ेसबुक पर वायरल हुए उनके वीडियो को दसियों हज़ार बार शेयर किया जा चुका है. अब तक लाखों लोग उनके वीडियो देख चुके हैं.

अवि वीडियो में कहते हैं, "आदित्यनाथ जी आप शाहरुख को पाकिस्तान भेजने की बात कर रहे हैं. क्या आपको पता है कि उनकी वजह से कितने लोगों को रोज़गार मिलता है. पीएम अर्थव्यस्था और व्यापार की बात करते हैं. मैं कहता हूँ कि शाहरुख ख़ान जैसे लोग अपने आप में उद्योग हैं."

इमेज कॉपीरइट yogiadityanath.in
Image caption भाजपा सांसद योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि शाहरुख ख़ान की भाषा और हाफ़िज़ सईद की भाषा में कोई अंतर नहीं है.

अवि सवाल करते हैं, "आज आप शाहरुख़ को पाकिस्तान भेज रहे हैं. कल सलमान, आमिर, सैफ़ को जाने को कहोगे. लेकिन ये क्यों जाएं? देश हमारा है. सबका है."

उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी से अपील की है कि इससे पहले कि हालात नियंत्रण से बाहर हों, मोदी विवादित बयान देने अपने नेताओं पर क़ाबू करें.

डांडिया सोशल मीडिया पर #‎MohabbatkeDange‬ ट्रेंड कराना चाहते हैं ताक़ि उनकी बात अधिक से अधिक लोगों तक पहुँचे.

बीबीसी से बात करते हुए डांडिया कहते हैं, "नफ़रत के दंगों का जवाब लोग प्यार के दंगों से देंगे. भारत के लोगों को आपस में इतना प्यार बांटना चाहिए कि नफ़रत की राजनीति वालों की दुकान ही बंद हो जाए."

इमेज कॉपीरइट EPA
Image caption शाहरुख ख़ान ने हाल ही में कहा था कि भारत में असहिष्णुता बढ़ रही है.

बीबीसी से बात करते हुए अवि कहते हैं, "भारत सरकार को अर्थव्यवस्था की चिंता है. अर्थव्यस्था दीवालिया हो जाए तो उसे वापस पटरी पर लाया जा सकता है. लेकिन अगर समाज दीवालिया हो जाए तो उसे सुधारने में बहुत वक़्त लगता है. भारत का समाज दीवालिया होने की दिशा में बढ़ रहा है."

उन्होंने ये वीडियो क्यों शेयर किए इस सवाल पर अवि कहते हैं, "मैं अमरीका में रहता हूँ. जब भारत के लोगों को धर्म के नाम पर लड़ते हुए या राजनीति का शिकार होते हुए देखता हूँ तो सोचता हूँ कि बेरोज़गारी, शिक्षा, किसान आत्महत्या जैसे मूल मुद्दे के बजाए सिर्फ़ सांप्रदायिकता पर ही बहस हो रही है. लोगों को इस बारे में ठहरकर सोचने और अपने मन की सुनने की ज़रूरत है."

इमेज कॉपीरइट Avi Dandia
Image caption अवि डांडिया का कहना है कि वे अब देश में मोहब्बत के दंगे कराना चाहते हैं.

वे कहते हैं, "मैं अपने मन की बात कर रहा हूँ. जो मोहब्बत की बात है. लोगों को ये मोहब्बत की बात पसंद आ रही है."

अवि का कहना है कि वो सांप्रदायिकता के मुद्दे पर आदित्यनाथ से खुली बहस के लिए भारत आने के लिए भी तैयार हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार