अब शाही इमाम के बेटे का निकाह चर्चा में..

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption शाबान बुख़ारी जामा मस्जिद के अगले इमाम होंगे, उनकी दस्तारबंदी में पाक प्रधानमंत्री को न्योता देने पर विवाद हुआ था हालाँकि नवाज़ शरीफ़ दिल्ली नहीं आए थे.

दिल्ली की जामा मस्जिद के शाही इमाम के बेटे शाबान बुख़ारी पहले 'ताजपोशी' को लेकर चर्चा में थे और अब उनकी शादी की चर्चा हो रही है.

भारतीय मीडिया में ख़बरे हैं कि शाबान बुख़ारी ने एक हिंदू लड़की से शादी की है जिसने निकाह से पहले मज़हब बदला है.

उधर बीबीसी से बातचीत में शाही इमाम अहमद बुख़ारी ने धर्मांतरण की बात को 'अफ़वाह और राजनीतिक साज़िश का हिस्सा' बताया है.

भारतीय मीडिया और सोशल मीडिया में 'शाबान बुख़ारी के अपने साथ पढ़ने वाली एक हिंदू लड़की से शादी' की ख़ूब चर्चा है.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption जामा मस्जिद के इमाम को शाही इमाम कहे जाने को लेकर भी विवाद होता रहा है.

हालांकि टेलीफ़ोन पर बीबीसी हिंदी से हुई बातचीत में अहमद बुख़ारी ने कहा, "ये सारी बातें सरासर झूठ हैं और लड़की के पूरे परिवार ने पांच साल पहले ही इस्लाम मज़हब स्वीकार कर लिया था. वे लोग कारोबार करते हैं और पहले ब्रिटेन में रहते थे. भारत में आकर इस पूरे परिवार ने इस्लाम कबूल कर लिया."

उन्होंने बताया कि 8 नवंबर को शाबान बुख़ारी का निकाह हुआ और 14 तरीख़ वलीमा है.

जब बीबीसी ने अहमद बुख़ारी से लड़की के पिता का फ़ोन नंबर मांगा तो उन्होंने वो देने से मना कर दिया.

उन्होंने कहा कि ये पारिवारिक मामला है और मीडिया को इस मामले को तूल नहीं देना चाहिए.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार