नीतीश के बाद, प्रशांत हुए ममता के

प्रशांत किशोर इमेज कॉपीरइट manish saandilya

लोकसभा चुनावों में नरेंद्र मोदी और बिहार विधानसभा चुनावों में नीतीश कुमार के चुनावी अभियान की कमान संभालने वाले प्रशांत किशोर पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनावों में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के तृणमूल कांग्रेस के चुनाव अभियान की डोर संभाले सकते हैं.

बंगाल मे अगले साल चुनाव हैं.

तृणमूल सूत्रों ने ममता के कार्यालय और प्रशांत में संपर्क की बात की पुष्टि की है. हालांकि कोई भी ऑन रिकॉर्ड कहने को तैयार नहीं है.

इमेज कॉपीरइट AFP GETTY

हालांकि इस सवाल पर ममता का कहना था, 'अब तक प्रशांत से इस बारे में कोई ठोस चर्चा नहीं हुई है. ऐसे में मैं इस पर कोई टिप्पणी कैसे कर सकती हूं.'

पार्टी के प्रवक्ता व राज्यसभा सदस्य डेरेक ओ ब्रायन कहते हैं, 'फिलहाल इसपर कोई टिप्पणी करना जल्दबाज़ी होगी. अभी तो हमें बिहार में भाजपा की हार का जश्न मनाना चाहिए.'

इमेज कॉपीरइट AFP

लेकिन जानकारों का कहना है कि अगर सबकुछ ठीकठाक रहा तो प्रशांत तृणमूल की चुनावी रणनीति को अंतिम रूप देते नज़र आएंगे.

बिहार के रहने वाले प्रशांत किशोर वर्ष 2011 तक संयुक्त राष्ट्र में स्वास्थ्य विशेषज्ञ के तौर पर अफ़्रीका में नौकरी करते थे.

लेकिन बाद में उन्होंने भारत लौटने का फैसला किया. फिर पेशेवरों की एक टीम बना कर वर्ष 2012 के गुजरात चुनावों के दौरान नरेंद्र मोदी की छवि चमकाने का काम किया.

इमेज कॉपीरइट Reuters

बिहार विधानसभा चुनावों में उन्होंने नीतीश कुमार के साथ काम किया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार