नीतीश 20 को लेंगे मुख्यमंत्री पद की शपथ

नीतीश कुमार इमेज कॉपीरइट Sanjay Kumar

नीतीश कुमार 20 नवंबर को पांचवीं बार बिहार के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे. शपथ ग्रहण समारोह पटना के ऐतिहासिक गांधी मैदान में दोपहर दो बजे आयोजित होगा.

महागठबंधन का विधिवत नेता चुने जाने के बाद शनिवार शाम पांच बजे बिहार के राज्यपाल रामनाथ कोविंद से मिलकर नीतीश ने नई सरकार बनाने का दावा पेश किया.

राज्यपाल से मिलने के बाद नीतीश कुमार ने मीडिया को बताया, ‘‘राज्यपाल ने मुझे नई सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया है. उन्होंने मुझे इस संबंध में औपचारिक रूप से पत्र दिया है.’’

राजद अध्यक्ष लालू यादव के साथ राजभवन गए नीतीश ने बताया कि नए मंत्रिमंडल में महागठबंधन के तीनों दल यानी जदयू, राजद और कांग्रेस शमिल होंगे.

इमेज कॉपीरइट Reuters

इसके पहले विधान परिषद सभागार में राजद, जदयू और कांग्रेस के नवनिर्वाचित विधायकों की संयुक्त बैठक में नीतीश को महागठबंधन का नेता चुना गया.

नीतीश के नाम का प्रस्ताव बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने पेश किया जबकि बिहार कांग्रेस प्रभारी और पूर्व केंद्रीय मंत्री सीपी जोशी ने इसका समर्थन किया.

बैठक में राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव और जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद यादव भी मौजूद थे.

इसके पहले शुक्रवार को दिन भर एक के बाद एक पांच अहम बैठकें हुईं. इनकी शुरुआत सुबह नीतीश कुमार के नेतृत्व में वर्तमान सरकार की कैबिनेट की अंतिम बैठक से हुई, जिसमें पंद्रहवीं विधानसभा को भंग करने की सिफारिश की गई.

इमेज कॉपीरइट AP

नीतीश कुमार ने पंद्रहवीं विधानसभा को भंग करने की सिफारिश करते हुए अपना इस्तीफा राज्यपाल को सौंप दिया.

इसके बाद नीतीश कुमार के सरकारी आवास पर जदयू विधानमंडल दल की बैठक हुई जिसमें नीतीश कुमार को औपचारिक रूप से जदयू का नेता चुना गया.

शुक्रवार को ही राजद विधायक दल की बैठक एक बार फिर हुई लेकिन लालू ने राजद विधायक दल के नेता की घोषणा नहीं की.

कांग्रेस की बैठक में विधायक दल के नेता का चुनाव करने के लिए कांग्रेस हाईकमान को अधिकृत कर दिया गया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार