'रामदेव का पतंजलि नूडल्स नहीं बेच सकता'

खाद्य सुरक्षा निगरानी संस्था एफ़एसएसएआई के प्रमुख आशीष बहुगुणा ने कहा है कि बिना स्वीकृति बाबा रामदेव पतंजलि आटा नूडल्स बाज़ार में नहीं उतार सकते.

दो दिन पहले ही एक प्रेस कान्फ्रेंस में बाबा रामदेव ने पतंजलि आटा नूडल्स बाज़ार में लाने की बात कही थी.

ये ख़बर ऐसे वक्त आई है जब कई विवादों के बाद महीनों बाज़ार से गायब रहने के बाद मैगी नूडल्स ने पांच महीने बाद बाज़ार में वापसी की है.

फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया (एफ़एसएसएआई) ने स्वीकृत मात्रा से अधिक लेड पाए जाने पर मैगी पर देश भर में प्रतिबंध लगा दिया था.

आशीष बहुगुणा ने मीडिया से बात करते हुए कहा, “पतंजलि नूडल्स को अभी बाज़ार में बेचने की स्वीकृति नहीं मिली है. इंस्टेंट नूडल स्डैंडर्डाइज़्ड उत्पाद नहीं है. इसे बिना स्वीकृति के बाज़ार में नहीं लाना चाहिए.”

उधर बाबा रामदेव की ओर से जारी एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है उन्हें एफ़एसएसआई से सेंट्रल कैटेगरी में पास्ता की लेबलिंग का लाइसेंस मिला हुआ है और एफ़एसएसआई की परिभाषा के अनुसार नूडल्स पास्ता कैटेगरी में आती हैं.

इमेज कॉपीरइट AFP

इसके तहत उन्होंने विभिन्न कंपनियों से नूडल्स बनाने का अनुबंध किया है जिनके पास नूडल्स बनाने का लाइसेंस है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार