मोदीः 'सरकार किसी एक के कंट्रोल में नहीं'

मोदी इमेज कॉपीरइट Reuters

मलेशिया यात्रा के दूसरे दिन मोदी ने कुआलालम्पुर में इंटरनेशनल एक्ज़ीविशन एंड कंवेंशन सेंटर में प्रवासी भारतीयों को संबोधित किया.

नरेंद्र मोदी ने भारतीय समुदाय के बीच उनके साथ कई ख़ास बातें की. उनमें से 10 ख़ास बातेंः

1. मलेशिया और भारत का संबंध आज का नहीं वरन् सालों पुराना है. भारत और मलेशिया दोनों पर एक ही औपनिवेशिक ताक़त का शासन था.

इमेज कॉपीरइट Netaji Research Bureau

2. पराधीन भारत में भारतीय मूल के हज़ारों मलेशियाई आगे आए थे और नेताजी की आर्मी से जुड़े थे. महिलाएं भी इस काम में पीछे नहीं रहीं.

3. मलेशिया में कुआलालम्पुर के इंडियन कल्चर सेंटर का नाम नेताजी सुभाष चंद्र बोस के नाम पर रखा जाएगा.

इमेज कॉपीरइट AP

4. प्रथम विश्म युद्ध में भारतीयों के साथ मलेशिया के लोगों ने भी जान गंवाई. यहां एक वॉर मेमोरियल (युद्ध स्मारक) बनाया जाएगा.

इमेज कॉपीरइट AFPGetty

5. हमारा सपना भारत को भ्रष्टाचार रहित देश बनाने का है. ग़रीबी हटाने और देश को आधुनिक बनाने के लिए बैंक और इंश्योरंस से लोगों को जोड़ा जा रहा है.

इमेज कॉपीरइट Getty

6. हमारी सरकार पॉलिसी पर चलती है न कि किसी एक व्यक्ति के कंट्रोल में है. हम साथ मिल कर काम करते हैं जिसमें राज्य भी साथ आते हैं और स्वस्थ्य प्रतिस्पर्धा करते हुए आगे बढ़ते हैं.

इमेज कॉपीरइट AFP

7. भारत सरकार के नए उद्यम ई-वीज़ा और ई-माइग्रेश से लोगों को सहूलियत होगी. ई-माइग्रेश की योजना के तहत विदेशों में काम कर रहे भारतीय लोगों की सुरक्षा और मदद की जाती है. इसके लिए वेल्फ़ेयर फ़ंड फ़ॉर डिस्ट्रेस्ड इंडियन वूमेन की घोषणा की गई. पिछले साल भारत सरकार ने 8,000 लोगों की मदद की थी.

8. आतंकवाद से लड़ने के लिए जानकारी साझा करने के स्तर पर और मिलिट्री सहायता दी जाएगी. साथ ही उन ज़मीनों को भी नष्ट करना होगा जिन पर आंतकवाद पनपता है और जो इसे बढ़ावा देता हैं.

9. हम चाहते हैं कि इंटरनेट के ज़रिए आतंकवाद रिक्रूइटिंग पर भी रोक लगाई जाए. मलेशिया आसियान में हमारा सबसे बड़ा व्यावसायिक भागीदार है, लेकिन इसे और आगे ले जाना होगा.

इमेज कॉपीरइट RIA Novosti

10. मलेशिया के लोगों के लिए आजीवन वीज़ा दिया जाएगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार