'ताजमहल के हिंदू मंदिर होने का सबूत नहीं'

ताजमहल इमेज कॉपीरइट Tern TV

भारत सरकार ने इस दावे को ख़ारिज कर दिया है कि ताजमहल कभी हिंदू मंदिर था.

केंद्रीय संस्कृति मंत्री महेश शर्मा ने कहा है कि सरकार को ताजमहल के हिंदू मंदिर होने के दावे से जुड़ा कोई सबूत नहीं मिला है.

आगरा के छह वकीलों ने पिछले साल अदालत में एक याचिका दायर की थी जिसमें कहा गया था कि ताजमहल एक समय में हिंदुओं का शिव मंदिर था और इसे हिंदुओं को सौंप दिया जाना चाहिए.

ताजमहल को 17वीं सदी में शहजहां ने अपनी पत्नी मुमताज़ महल की याद में बनवाया था.

मुमताज़ महल की मौत अपनी 14वीं संतान को जन्म देते हुए हो गई थी और ताजमहल मुमताज़़ का मक़बरा है.

दुनिया भर में मशहूर ताजमहल को देखने हर रोज़ करीब 12 हज़ार पर्यटक पहुंचते हैं.

मुग़ल कारीगरी के बनाए बेजोड़ स्मारक ताजमहल को 1983 में यूनेस्को ने विश्व विरासत घोषित किया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार