दिल्ली में जनलोकपाल बिल पारित

इमेज कॉपीरइट pti

दिल्ली विधानसभा ने शुक्रवार को जनलोकपाल बिल पारित कर दिया. इसमें अन्ना हज़ारे के सुझावों को भी रखा गया है जिनके तहत लोकपाल को केंद्र समेत किसी भी सरकारी कर्मचारी के ख़िलाफ़ कार्रवाई की शक्तियां दी गई हैं.

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इसे 'ऐतिहासिक क्षण' बताया है और 2011 के इंडिया अगेंस्ट करप्शन के आंदोलन और सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हज़ारे को इसका श्रेय दिया.

70 सदस्यीय विधानसभा में विधेयक के समर्थन में 64 वोट पड़े.

इमेज कॉपीरइट AP

केजरीवाल ने भाजपा सदस्यों के आरोपों पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि यह बिल 2014 में सदन में पेश किए गए ड्राफ़्ट का संशोधित और कमज़ोर रूप नहीं है. उन्होंने ताज्जुब जताया कि भाजपा और कांग्रेस सरकारों वाले राज्यों में शायद ही ऐसा विधेयक पारित किया जा सकता था.

बदलाव के बाद अब जनलोकपाल के पैनल में एक हाईकोर्ट जज, एक मशहूर हस्ती और एक पूर्व अध्यक्ष का प्रावधान रखा गया है. हालांकि लोकपाल को हटाने की प्रक्रिया किसी ऊंची अदालत के निर्देशन में बनी जांच कमेटी के ज़रिए ही शुरू होगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार