सोनिया-राहुल की पेशी, सुषमा का पाक दौरा

  • 8 दिसंबर 2015
राहुल गांधी और सोनिया गांधी इमेज कॉपीरइट Reuters

मंगलवार को जिन ख़बरों पर नज़र रहेगी उनमें कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी की दिल्ली की एक अदालत में होने वाली पेशी और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज की पाकिस्तान यात्रा प्रमुख है.

नेशनल हेरल्ड मामले में दिल्ली हाई कोर्ट ने सोनिया गांधी और राहुल गांधी को व्यक्तिगत रूप से अदालत में पेश होने को कहा है. हाई कोर्ट ने उन्हें पेशी से छूट न देने के निचली अदालत के फ़ैसले को बरक़रार रखा.

इसके बाद, इन दोनों नेताओं को पटियाला हाउस कोर्ट में मामले की अगली सुनवाई के लिए मंगलवार को पेश होना होगा.

हालांकि कांग्रेस ने कहा है कि वह मंगलवार सुबह ही हाई कोर्ट के इस फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती देगी.

इमेज कॉपीरइट ap

भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज पाकिस्तान में अफ़ग़ानिस्तान मुद्दे पर हो रही पांचवीं 'हार्ट ऑफ एशिया' मंत्रिस्तरीय बैठक में भाग लेने के लिए मंगलवार को इस्लामाबाद रवाना होंगी.

यात्रा के दौरान वो पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ और उनके विदेश मामलों के सलाहकार सरताज अज़ीज़ के साथ मुलाकात करेंगी.

उच्च शिक्षा में फैलोशिप में कटौती के विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) के फ़ैसले के खिलाफ़ छात्रों का आंदोलन 'ऑक्यूपाई यूजीसी' जारी है.

इसके तहत आठ और नौ दिसंबर को देश भर के छात्र दिल्ली पहुंच रहे हैं. मंगलवार को वो दिल्ली के जंतर-मंतर से यूजीसी के दफ्तर तक मार्च करेंगे.

इमेज कॉपीरइट Reuters

बिजली संशोधन विधेयक 2014 पर बातचीत विफल होने के बाद ऊर्जा सेक्टर की इलेक्ट्रिसिटी इम्लॉइज एंड इंजीनियर्स की राष्ट्रीय समन्वयन समिति ने मंगलवार को एक दिन की राष्ट्रव्यापी हड़ताल पर जाने की घोषणा की है.

हड़ताल में देशभर के करीब 12 लाख बिजली कर्मचारी और इंजीनियर भाग लेंगे. हड़ताल की वजह से बिजली व्यवस्था गड़बड़ा सकती है.

इमेज कॉपीरइट Getty

ब्रितानी सेना के सेवानिवृत्त अधिकारी सीरिया में इस्लामिक स्टेट पर ब्रिटेन के हवाई हमलों के विरोध में लंदन के डाउनिंग स्ट्रीट पर अपने पदक वापस करेंगे.

इसी डाउनिंग स्ट्रीट पर ब्रितानी प्रधानमंत्री का आधिकारिक आवास है. पिछले दिनों इस मुद्दे पर संसद से मिली अनुमति के बाद ब्रिटेन सीरिया में आईएस के ठिकानों पर हवाई हमले कर रहा है.

इमेज कॉपीरइट AFP

सउदी अरब की राजधानी रियाद में सीरिया के विपक्षी दल सउदी अरब की मेज़बानी में बैठक करेंगे.

बैठक का मकसद राष्ट्रपति बशर अल असद की सरकार से बात करने से पहले अपना संयुक्त एजेंडा तय करना है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार