टू व्हीलर को छूट मिलेगी या नहीं?

इमेज कॉपीरइट AP

दिल्ली में सम-विषम योजना को लेकर दिल्ली सरकार के मंत्री अलग अलग बातें कह रहे हैं.

जहां स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन इस योजना के तहत दो पहिया वाहनों, ऑटो और टैक्सी को छूट देने की बात कह रहे हैं, वहीं परिवहन मंत्री गोपाल राय का कहना है कि योजना सभी वाहनों पर लागू होगी.

हाल में दिल्ली सरकार ने घोषणा की है कि राजधानी में एक जनवरी से एक दिन सम तो दूसरे दिन विषम नंबर की गाड़ियां चलेंगी.

इस तरह, नंबर के आख़िर में 1,3,5,7 और 9 विषम संख्या वाली गाड़ियां एक दिन चलेंगी, जबकि 0,2,4,6 और 8 सम संख्या वाली गाड़ियां दूसरे दिन चलेंगी.

दिल्ली सरकार प्रदूषण से निपटने के लिए इस योजना को ज़रूरी बता रही है जबकि कई लोग इस योजना को अव्यवहारिक बता कर इसका विरोध कर रहे हैं.

लेकिन इस व्यवस्था को लेकर दिल्ली सरकार के दो मंत्रियों के बीच ही एकराय नहीं दिखती है.

दिल्ली सरकार में स्वास्थ्य और गृह मंत्री सत्येंद्र जैन ने एक टीवी चैनल से बातचीत में कहा, ''सम-विषम नंबर की व्यवस्था केवल निजी कारों पर लागू होगी. इसमें न तो टैक्सी शामिल होगी, न आटो और न दो पहिया वाहन.''

उन्होंने कहा, ''दिल्ली की निजी कारों के साथ-साथ यहां दूसरे राज्यों से आने वाली निजी कारों और सीएनजी से चलने वाले वाहनों पर भी यह नियम लागू होगा.''

इमेज कॉपीरइट AP

वहीं, परिवहन मंत्री गोपाल राय ने कहा कि यह व्यवस्था दो पहिया वाहनों पर भी लागू रहेगी, क्योंकि प्रदूषण तो दोनों ही तरह के वाहनों से फैल रहा है.

दिल्ली सरकार की इस घोषणा के समर्थन और आलोचना का दौर शुरू हो गया है.

वैसे भारत के मुख्य न्यायाधीश जस्टिस तीरथ सिंह ठाकुर ने रविवार को कहा कि दिल्ली की हवा को सुधारने के लिए जज महीने में 15 दिन कार पूल करने को तैयार हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार