राम जेठमलानी के मुवक्किलों पर एक नज़र

राम जेठमलानी इमेज कॉपीरइट PTI

पूर्व भाजपा नेता और वरिष्ठ वकील राम जेठमलानी वित्त मंत्री अरुण जेटली की ओर से दायर मानहानि के मामले में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और आम आदमी पार्टी के अन्य नेताओं की पैरवी करेंगे.

17 साल की उम्र में क़ानून की डिग्री हासिल करने वाले जेठमलानी यूं तो देश के सबसे महंगे वकीलों में से हैं, लेकिन उनका दावा रहा है कि वो 90 फ़ीसदी मामले बिना फ़ीस के लड़ते हैं.

राम जेठमलानी सबसे पहले 1959 के केएम नानावटी बनाम महाराष्ट्र सरकार मामले से चर्चा में आए थे.

कुछ ऐसे ही हाईप्रोफ़ाइल मामलों पर एक नज़र जिनमें उन्होंने अभियुक्तों का बचाव किया है:

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption जेठमलानी ने 2011 में मद्रास हाईकोर्ट में राजीव गांधी की हत्या के दोषियों का बचाव किया था.

जेठमलानी इंदिरा गांधी की हत्या के मामले में उनके हत्यारे केहर सिंह और सतवंत सिंह और राजीव गांधी की हत्या के मामले में दोषी मुरुगन के लिए अदालत में पेश हुए थे.

उन्होंने स्टॉक मार्केट घोटाले में हर्षद मेहता का बचाव किया. बाद में ऐसे ही घोटाले में केतन पारेख का बचाव किया.

वो अंडरवर्ल्ड डॉन हाजी मस्तान की भी पैरवी कर चुके हैं.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption हवाला मामले में जेठमलानी ने लालकृष्ण आडवाणी का बचाव किया था.

हवाला कांड में राम जेठमलानी वरिष्ठ भाजपा नेता लालकृष्ण आडवाणी के वकील थे.

दिल्ली के बेहद चर्चित जेसिका लाल हत्याकांड मामले में वे अभियुक्त मनु शर्मा के वकील थे.

सोहराबुद्दीन फ़र्ज़ी मुठभेढ़ मामले में उन्होंने मौजूदा भाजपा अध्यक्ष अमित शाह का केस लड़ा.

इमेज कॉपीरइट EPA

2जी घोटाला मामले में वे डीएमके की नेता कनिमोझी के वकील हैं.

राम जेठमलानी कथित बलात्कार मामले में गिरफ़्तार बापू आसाराम के भी वकील रह चुके हैं. हालांकि बाद में एक और भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी आसाराम का केस लड़ रहे हैं.

आय से अधिक संपत्ति मामले में वो तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयललिता के वकील थे.

अवैध खनन मामले में उन्होंने कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येद्दयुरप्पा का भी बचाव किया था.

राम जेठमलानी भारतीय जनता पार्टी में थे और बिहार से राज्य सभा के लिए चुने गए, लेकिन उनके बाग़ी तेवरों के बाद पार्टी ने उन्हें बाहर कर दिया है.

उन्होंने बिहार चुनाव के दौरान कहा था वो इस चुनाव में मोदी की हार देखना चाहते हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार