व्यापमं घोटाले में दो लोगों को सज़ा हुई

व्यापमं इमेज कॉपीरइट vipul gupta

मध्य प्रदेश के बहुचर्चित व्यापमं घोटाले में इंदौर की एक अदालत ने दो लोगों को तीन-तीन साल के कठोर कारावास की सज़ा सुनाई है.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक़ विशेष अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश डीके मित्तल ने अक्षत सिंह राजावत (25) और प्रकाश बरिया (28) पर 500 रुपए का जुर्माना भी लगाया है.

अभियोजन पक्ष का कहना है कि राजस्थान के भीलवाड़ा के रहने वाले राजावत ने मध्य प्रदेश के झाबुआ के बरिया के स्थान पर परीक्षा दी थी.

19 मई, 2013 को हुई यह परीक्षा पशु विज्ञान में डिप्लोमा कोर्स में दाखिले के लिए आयोजित की गई थी. अदालत ने दोनों को धोखाधड़ी का दोषी पाया.

सरकारी वकील प्रभुलाल मालवीय ने बताया कि इस मामले की सुनवाई के दौरान 11 गवाहों को पेश किया गया था.

उन्होंने कहा कि राजावत का राज उस समय खुल गया जब परीक्षा संचालक ने पाया कि प्रवेश पत्र पर लगी फ़ोटो और बरिया की तस्वीर मेल नहीं खाती है.

इसके बाद राजावत और बरिया को पुलिस ने गिरफ़्तार कर लिया था.

नियुक्तियों और प्रतियोगी परीक्षाओं में धांधली से जुड़े इस घोटाले के सिलसिले में कई लोगों की मौत हो चुकी है.

इस मामले में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के इस्तीफ़े की मांग लेकर कांग्रेस ने संसद के मॉनसून सत्र में भारी हंगामा किया था.

इमेज कॉपीरइट Other

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार