राम माधव से सवाल पूछने वाले मेहदी हसन छाए

  • 28 दिसंबर 2015
मेंहदी हसन

समाचार चैनल अल जज़ीरा के एंकर मेहदी हसन संदेश सोशल मीडिया पर छाए हुए हैं.

उनके एक कार्यक्रम में भारतीय जनता पार्टी के राम माधव से आरएसएस, अखंड भारत और हिंदू धर्म से जुड़े कई सवाल पूछे गए थे.

एक सवाल के जवाब में राम माधव ने कहा कि राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ मानता है कि भारत, पाकिस्तान और बांग्लादेश को एक दिन एक होंगे और अखंड भारत बनेगा. हालांकि बाद में उन्होंने सफाई दी कि ऐसा स्वेच्छा से ही होगा.

इसके बाद ट्विटर पर बड़ी तादाद में लोगों ने ट्वीट किया और मेहदी हसन उनकी तरह तरह से आलोचना की गई.

विनय दोकनिया (@vinaydokania) ने ट्वीट किया, "राम माधव ने अल जज़ीरा के मेहदी हसन को माकूल जवाब दिया है."

फ़्रेंड्स ऑफ़ आरएसएस (@friendsofrss) ने कहा, "किसने अल जज़ीरा पर राम माधव को तोड़ मरोड़ कर पेश किया है?"

अमित मालवीय (@malviyamit) ने ट्वीट किया, "जाहिर है कि राम माधव आपके 'आईएसआईएस' पर ख़फा हैं."

'नो टू पीडीपी-बीजेपी गवर्नमेंट' (@chinmaykrvd) ने ट्विटर पर लिखा, "मेहदी हसन नफ़रत फैलाने वाले पुरातनपंथी हैं. राम माधव को अक्ल रही होती तो उन्होंने 'आईएस' को क़तर से मिलने वाले पैसे से जुड़ा सवाल पूछ कर अल जज़ीरा को पटखनी दे दी होती."

वहीं कुछ लोगों ने अल जज़ीरा और मेहदी हसन को बचाव भी किया है.

अनमोल चौधरी (@anmolch0) ने ट्वीट किया, "मेहदी हसन रॉक्स."

रवींद्र जडेजा (@sirjadeja) ने लिखा, "देखें, किस तरह हिंदू आपका समर्थन कर रहे हैं."

मनीषा (@Manomyst ) ने ट्वीट किया, "आपकी हिम्मत कैसे हुई कि आपने बीजेपी की ख़ामियों को उजागर कर दिया. शाहरुख और राजदीप का क्या हाल किया गया है, देख लें."

स्वयं मेहंदी हसन ने पूरे मामले पर सफ़ाई दी है. उन्होेंने कहा है कि वे पाकिस्तानी नहीं है, उनके माता पिता भारत के थे और उनका ख़ुद को इस्लामिक स्टेट कहने वाले संगठन से कोई मतलब नहीं है.

मेहदी हसन (‏@mehdirhasan) ट्वीट किया, "बीते 48 घंटों में हिंदू राष्ट्रवादियों के ट्रॉल्स ने मुझे पाकिस्तानी, आईएसआईएस का आदमी पाकिस्तानी कहा है."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार