पठानकोट: पीएम ने बुलाई उच्च स्तरीय बैठक

पठानकोट इमेज कॉपीरइट AFP

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक़ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पठानकोट हमले के बाद एक उच्च स्तरीय बैठक की है जिसमें राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और विदेश सचिव एस जयशंकर शामिल हुए हैं.

इससे पहले एयर मार्शल (डीजी एअर ऑपरेशंस) ए के खोसला ने कहा था कि पठानकोट एयरबेस में अब भी दो से ज़्यादा चरमपंथियों के छिपे होने की आशंका है.

मीडिया से बात करते हुए उन्होंने ये जानकारी दी.

उनके साथ मौजूद गृह सचिव राजीव महर्षि ने उम्मीद जताई कि आज देर शाम तक चरमपंथियों के ख़िलाफ़ ऑपरेशन ख़त्म हो सकता है.

महर्षि ने बताया, "इस हमले में अब तक एयरफ़ोर्स के छह जवान और एनएसजी के एक जवान की मौत हो गई है. इसके अलावा कुल 20 सुरक्षाकर्मी घायल हुए हैं."

इमेज कॉपीरइट AFP

गृह सचिव के मुताबिक़ चरमपंथी एयरबेस के तकनीक विभाग तक पहुंचकर उस पर नियंत्रण पाना चाहते थे, लेकिन सुरक्षाबलों की मुस्तैदी की वजह से वो अपने मक़सद में नाकाम रहे.

उन्होंने बताया कि शनिवार को हुए इस हमले में रात तक चार चरमपंथियों को मार गिराया गया था.

उसके बाद चरमपंथियों की ओर से फ़ायरिंग बंद हो गई तो ऐसा लगा कि वहां कोई नहीं है. लेकिन रविवार दोपहर से फिर से फ़ायरिंग शुरू हो गई.

इमेज कॉपीरइट AFP

गृह सचिव ने बताया कि एयरबेस को कोई नुकसान नहीं पहुंचा है और चरमपंथियों के ख़िलाफ़ कार्रवाई जारी है.

गृहसचिव राजीव महर्षि ने यह साफ़ किया है कि शनिवार की रात पठानकोट एयरबेस पर चरमपंथियों के ख़िलाफ़ जवाबी कार्रवाई रोकी नहीं गई थी.

रात होने की वजह से कार्रवाई धीमी ज़रूर कर दी गई थी, पर यह चल रही थी. उस दौरान चार चरमपंथी मारे जा चुके थे.

सुबह, मारे गए चरमपंथियों के शव निकालने का काम शुरू होने पर फिर वहां छिपे चरमपंथियों ने गोलीबरी शुरू कर दी. इसके बाद सुरक्षा बलों को एक बार फिर कार्रवाई तेज करनी पड़ी.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

संबंधित समाचार