बम की अफ़वाह पर रोकी गई लखनऊ शताब्दी

  • 3 जनवरी 2016
इमेज कॉपीरइट AFP

दिल्ली से लखनऊ जाने वाली शताब्दी एक्सप्रेस में बम होने की ख़बर मिलने के बाद इसे ग़ाज़ियाबाद में रोककर तलाशी ली गई.

जांच के बाद ही गाड़ी को आगे जाने दिया गया.

नॉर्दर्न रेलवे के मुताबिक़ बम निरोधक दस्ता, स्वान दस्ता, जीआरपी और स्थानीय पुलिस ने गाड़ी को रोककर जांच की है.

सीपीआरओ नीरज शर्मा ने बीबीसी को बताया, ''नई दिल्ली के स्टेशन मास्टर को सुबह सूचना मिली थी कि लखनऊ शताब्दी में बम है. नई दिल्ली से शताब्दी सुबह 6.10 मिनट पर रवाना हो चुकी थी. ट्रेन गाज़ियाबाद स्टेशन पर 6.45 बजे पहुँची, जहां उसे रोका गया और उसकी बम स्क्वाड द्वारा गहन जांच की गई. ट्रेन में बम नहीं मिला है. जांच के बाद ट्रेन को रवाना कर दिया गया है.''

उन्होंने बताया कि सुरक्षा की दृष्टि से नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर सभी गाड़ियों की जांच की जा रही है.

ट्रेन में चलने वाले यात्रियों की भी ट्रेन में चढ़ने से पहले जांच की जा रही है. सीपीआरओ ने बताया कि अब सभी गाड़ियां समयानुसार चल रहीं है.

''ऐसे कॉल रेलवे को आते रहते हैं, इन्हें होक्स कॉल कहा जाता है. रेलवे ऐसे कॉल को संजीदगी से लेता है. हालांकि इस कॉल का पठानकोट के हमले से कोई लेना-देना नहीं है.''

दरअसल, आज सुबह छह बजे मुंबई एटीएस को एक धमकी भरा ईमेल मिला था, जिसमें दिल्ली से कानपुर जाने वाली किसी एक ट्रेन को 72 घंटे के अंदर बम से उड़ाने की बात कही गई थी. इसके बाद ट्रेनों को जगह-जगह रोककर तलाशी ली जा रही है. रेलवे स्टेशनों पर भी सुरक्षा बढ़ा दी गई है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार