आमिर को नहीं कहा देशद्रोही: मनोज तिवारी

  • 10 जनवरी 2016
इमेज कॉपीरइट .

भाजपा सांसद मनोज तिवारी ने इस बात से इंकार किया है कि उन्होंने अभिनेता आमिर ख़ान को 'देशद्रोही' कहा है.

असहिष्णुता पर आमिर ख़ान के बयान के बाद मीडिया में एेसी ख़बरें आई थीं कि तिवारी ने पर्यटन मंत्रालय से संबंधित संसदीय समिति की बैठक में ऐसा कहा था.

भोजपुरी फ़िल्मों के अभिनेता और गायक तिवारी ने बीबीसी हिंदी के वात्सल्य राय से बातचीत में कहा कि वो ऐसी ख़बरें देने वाले अख़बारों और चैनलों के ख़िलाफ़ मानहानि का मुकदमा करेंगे.

उन्होंने कहा, "स्थायी समिति की बैठक की बातें गोपनीय होती हैं और अख़बारों को यह बताना होगा कि उनका सूत्र कौन है."

इमेज कॉपीरइट AFP

तिवारी ने कहा कि बैठक में मिनेट्स नोट किए जाते हैं और समिति इसे उजागर कर सकती है.

उन्होंने यहां तक कहा कि अगर किसी को देश में असहिष्णुता लगती है तो इसका मतलब यह नहीं है कि वह देशद्रोही हो गया है.

उन्होंने कहा, "मीडिया स्वतंत्र है लेकिन इस तरह के बयान मेरे मुंह से डालकर मेरी छवि ख़राब करने के साथ नफ़रत फैलाई जा रही है. यह ग़लत है."

गौरतलब है कि सरकार ने उस एजेंसी के साथ क़रार खत्म करने का फ़ैसला किया है जिसने अतुल्य भारत के लिए आमिर को ब्रांड एंबेसडर बनाया था.

इसे आमिर के असहिष्णुता वाले बयान से जोड़कर देखा जा रहा है.

आमिर ने एक कार्यक्रम में कहा था कि देश में बढ़ रही असहिष्णुता की घटनाओं के मद्देनज़र उनकी पत्नी ने उनसे देश छोड़ने तक की बात की थी.

उनके इस बयान पर ख़ासा हंगामा हुआ था जिसके बाद आमिर ने कहा था कि उनका या उनके परिवार को देश छोड़े का कोई इरादा नहीं है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार