रोहतक में भी ऑड-ईवन, अलग मक़सद से

इमेज कॉपीरइट EPA

दिल्ली में ऑड-ईवन का प्रयोग कैसा रहा, इसकी 15 जनवरी के बाद समीक्षा होगी.

उधर इस प्रयोग का असर दिल्ली के पड़ोसी शहर रोहतक में अलग ही मकसद से हो रहा है.

हरियाणा के रोहतक में सोमवार को इस ऑड-ईवन सिस्टम को ऑटो पर लागू किया जा रहा है, दिल्ली की तरह निजी वाहनों पर नहीं. सोमवार को केवल ऑड नंबर के ऑटो चलेंगे.

रोहतक के एसएसपी शशांक आनंद ने बीबीसी संवाददाता वात्सल्य राय को बताया, “ज़िले में करीब 11 हज़ार ऑटो रिक्शा चलते हैं. आम लोगों की शिकायतें थीं कि इन ऑटो रिक्शा के चलते शहर में काफी जाम लगा रहता है. ऐसे में ऑटो यूनियन के साथ हमने बात की और सोमवार को हम प्रयोग शुरू कर रहे हैं, जिसमें ऑड नंबर वाले ऑटो चलेंगे.”

अभी रोहतक में ये प्रयोग साप्ताह में एक दिन किया जाएगा. अगले सोमवार यानी 18 जनवरी को केवल ईवन नंबर वाले ऑटो चलेंगे.

शशांक आनंद ने अपनी बातचीत में बताया, “अगर इससे शहर जाम मुक्त होता है और अच्छा फीडबैक मिलती है तो इसे सप्ताह के अन्य दिनों में भी लागू कर सकते हैं और प्राइवेट वाहनों के लिए भी इसे इस्तेमाल करने पर विचार कर सकते हैं.”

हालांकि ज़ाहिर है कि रोहतक में ऑड-ईवन का प्रयोग फ़िलहाल प्रदूषण कम करने के लिए नहीं हो रहा है, बल्कि जाम ख़त्म करने के लिए किया जा रहा है.

रोहतक के एसएसपी ने बताया, “हमारा मुख्य उद्देश्य तो जाम से मुक्ति पाने का है. अगर प्रदूषण कम करने में फ़ायदा मिलता है तो ये अच्छी बात होगी.”

शशांक आनंद बताते हैं कि रोहतक में दस साल पहले ही इस तरह की कोशिश की गई थी, लेकिन तब ये स्कीम किसी वजह से कामयाब नहीं हो पाई थी.

रोहतक के एसएसपी ने ये भी भरोसा दिलाया है कि वे सड़कों पर जाम के दूसरे कारण मसलन अतिक्रमण वैगरह को भी दूर करने के लिए क़दम उठाएंगे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार