सहने की क्षमता ख़त्म हुई: मनोहर पर्रिकर

  • 16 जनवरी 2016
मनोहर पर्रिकर इमेज कॉपीरइट Reuters

पठानकोट हमले की पृष्ठभूमि में भारतीय रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने कहा है कि देश की सहने की क्षमता ख़त्म हो गई है और रक्षा मंत्री के तौर पर वे अब और सहन नहीं कर सकते.

पर्रिकर ने जयपुर में कहा, ''ये होना नहीं चाहिए, ये सहन नहीं कर सकते, बहुत हो गया. सहने की जो क्षमता देश की है, वो ख़त्म हो गई. रक्षा मंत्री के तौर पर मेरी क्षमता ख़त्म हो गई है.''

पठानकोट हमले में भारतीय वायुसेना के एक अधिकारी को कथित तौर पर जाल में फंसाए जाने की ख़बरों पर उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ''मुझे नहीं लगता कि इस तरह की घटनाएं उच्च स्तर पर होती हैं. कुछ बाते सामने आई हैं और हमने इन्हें रोकने के लिए एहतियाती क़दम उठाए हैं.''

इसी साल 2 जनवरी को पंजाब के पठानकोट स्थित भारतीय वायुसेना के एक ठिकाने पर चरमपंथी हमला हुआ था जिसमें सात सुरक्षाकर्मी भी मारे गए थे.

भारत का कहना है कि चरमपंथी पाकिस्तान से आए थे और उसने इस संबंध में कार्रवाई के लिए ज़रूरी जानकारी पाकिस्तान को दे दी है.

इमेज कॉपीरइट epa

इसी हमले की पृष्ठभूमि में दोनों देशों के विदेश सचिवों की 15 जनवरी को होने वाली वार्ता को टाल दिया गया.

भारत का कहना है कि पाकिस्तान में कुछ चरमपंथियों के ख़िलाफ़ कार्रवाई का वो स्वागत करता है और आने वाले दिनों में दोनों देशों के विदेश सचिव आपसी सहमति से वार्ता की तारीख़ तय करेंगे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार