ज़मीन से छह मीटर ऊपर टर्राता है ये मेंढक

ट्री फ्रॉग इमेज कॉपीरइट AP

भारत में एक असाधारण मेंढक का पता चला है, जो पेड़ पर रहता है. माना जा रहा था कि मेंढक की यह प्रजाति 137 साल पहले विलुप्त हो गई थी.

यह खोज पूर्वोत्तर भारत के जंगलों में देश के मशहूर जीवविज्ञानी सत्यभामा दास बीजू और वैज्ञानिकों की एक टीम ने की.

माना जा रहा है कि मेंढक की यह प्रजाति चीन से लेकर थाईलैंड तक मिल सकती है.

मेंढक के बारे में शोध करने वाले वैज्ञानिकों ने इसे एक नई प्रजाति के तौर पर वर्गीकृत कर दिया है.

गोल्फ़ की गेंद के आकार का यह मेंढक ज़मीन से क़रीब छह मीटर की ऊंचाई वाले पेड़ के छेद में रहता है और शायद इसी वजह से यह लोगों की नज़रों से ओझल रहा.

इमेज कॉपीरइट AP

हालांकि दूसरे वैज्ञानिकों का कहना है कि बेहद कम वैज्ञानिक ही दूरदराज़ के क्षेत्रों में काम करते हैं. इसी वजह से इन पर किसी का ध्यान नहीं गया होगा.

दिल्ली विश्वविद्यालय से जुड़े बीजू को 'फ्रॉग मैन इन इंडिया' कहा जाता है और उन्होंने देश की लगभग 350 मेंढक की प्रजातियों में 89 की खोज की है.

बीजू का कहना है, "हमने पेड़ की ऊंचाई से एक जादुई संगीत जैसी आवाज़ सुनी तो निश्चित तौर पर हमें इसकी खोज करनी ही थी."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार