'हैदराबाद में जो हुआ, वही गांधी के साथ हुआ था'

  • 30 जनवरी 2016
राहुल गांधी इमेज कॉपीरइट AFP

दलित छात्र रोहित वेमुला की आत्महत्या के बाद विरोध प्रदर्शन कर रहे छात्रों के साथ कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी भी शनिवार को धरने पर बैठे और भूख हड़ताल की.

शनिवार 30 जनवरी को रोहित वेमुला का जन्मदिन भी है.

इमेज कॉपीरइट EPA
Image caption हैदराबाद में छात्रों के बीच पहुंचे राहुल गांधी

हैदराबाद के अलावा दिल्ली समेत देश के कई हिस्सों में प्रदर्शन हुए. राहुल गांधी के साथ रोहित की माँ भी धरने पर बैठी थी.

उन्होंने कहा, "हैदराबाद में जो हुआ, वही महात्‍मा गांधी के साथ हुआ था, उन्‍हें ग़लत के ख़िलाफ़ आवाज़ उठाने नहीं दी गई."

30 जनवरी को ही महात्मा गांधी की हत्या कर दी गई थी.

इस पर राहुल गांधी ने कहा कि ये अजीब बात है कि आज रोहित का जन्मदिन है और आज ही के दिन महात्मा गांधी की हत्या की गई थी.

राहुल गांधी ने मोदी सरकार की कड़ी आलोचना करते हुए कहा, "मिस्टर मोदी और आरएसएस से मेरा मुख्य विरोध इस पर है कि वे ऊपर से एक विचारधारा थोपकर भारतीय युवकों की भावनाओं को कुचल रहे हैं."

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा कि देश की संस्थाओं में व्यापक उत्पीड़न है.

उन्होंने छात्रों से कहा कि रोहित के साथ जो कुछ हुआ, अगर वे उसे जाने देंगे, तो एक दिन उनके साथ भी ऐसा हो सकता है.

इमेज कॉपीरइट AP

उधर, भारतीय जनता पार्टी ने राहुल गांधी पर मौत पर राजनीति करने का आरोप लगाया.

भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि राहुल गांधी अपनी राजनीति चमकाने के लिए हैदराबाद की घटना को इस्तेमाल कर रहे हैं.

उन्होंने बिहार में क़ानून व्यवस्था की बिगड़ती हालत का आरोप लगाते हुए कहा कि वहां के बारे में राहुल गांधी क्यों नहीं बोलते हैं.

इमेज कॉपीरइट ROHITH VEMULA Facebook Page

इस पर कांग्रेस ने भाजपा का पलटवार किया. पार्टी प्रवक्ता अजय माकन ने कहा, ''घबराहट भाजपा की यह है कि सरकार अपने धनाढ्य मित्रों की आवाज़ बनी हुई है, जबकि हमारे नेता राहुल गांधी दलित और ग़रीबों की आवाज़ बने हुए हैं.''

उधर, केंद्रीय मंत्री नेता नितिन गडकरी ने कहा, ''सरकार ने जांच गठित कर दी है. ऐसे में राहुल वहां गए हैं और विश्वविद्यालय को राजनीति का अड्डा बना रहे हैं. उन्हें कुछ कहना है तो वह संसद में आकर कहें.''

रोहित वेमुला की आत्महत्या के मुद्दे पर कांग्रेस समेत विपक्षी दल हैदराबाद सेंट्रल यूनिवर्सिटी के तत्कालीन कुलपति, केंद्रीय मंत्री बंडारू दत्तात्रेय और केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी का इस्तीफा मांग रहे हैं.

इससे पहले, हैदराबाद यूनिवर्सिटी के कैंपस में रोहित वेमुला के जन्मदिन के मौक़े पर छात्रों ने आधी रात को कैंडल मार्च निकाला और उसके बाद धरने पर बैठ गए.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार