अफ्रीकी छात्रः बेंगलुरु घटना पर कड़ी कार्रवाई हो

फेसबुक इमेज कॉपीरइट AFP getty

तंज़ानियाई छात्रा से बेंगलुरु में बदसुलूकी पर बीबीसी स्वाहिली के फ़ेसबुक पेज पर कुछ अफ्रीकी छात्रों ने अपनी प्रतिक्रिया दी है और भारत सरकार से अपील की है कि वो दोषियों के ख़िलाफ़ सख़्त कार्रवाई करे.

फ़ातमा इब्राहीम ने लिखा है, "हम तंज़ानिया की सरकार से अनुरोध करते हैं कि वो भारत में रह रहे इन छात्रों की मदद करें क्योंकि वो पहले ही दहशत में हैं. हम तो तंज़ानिया में रह रहे भारतीयों से भेदभाव नहीं करते, उनका अपमान नहीं करते. हम अपने राष्ट्रपति से अनुरोध करते हैं कि वो इस मामले पर ध्यान दें."

इमेज कॉपीरइट AFP getty
Image caption भारत में भी छात्रों ने तंज़ानियाई छात्रा से बदसुलूकी का विरोध किया है.

अब्दल्लाह दिबान्ये डालस ने पोस्ट किया, "भारतीयों को अफ्रीकियों से भेदभाव का व्यवहार करने की आदत हो गई है और अगर आप ध्यान दें तो अफ्रीका में बहुत से भारतीय रहते हैं पर हम उनकी तरह उनसे भेदभाव नहीं करते. ये सिर्फ़ तंज़ानिया के लोगों की ही समस्या नहीं है."

सोमो अहमद ने फ़ेसबुक पर टिप्पणी की, "वो (भारतीय) तो यहां तंज़ानिया में शांतिपूर्वक रहते हैं. अगर मेरे पास ताक़त होती, तो मैं उन्हें पहले ही यहां से निकाल फेंकता. उनमें इंसानियत तो है ही नहीं."

एरास्तो रिचर्ड ने लिखा है, "वे नहीं जानते कि उनके भाई-बहन भी यहां रह रहे हैं और वे हमें उकसा रहे हैं."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार