नाइजीरिया में चुनाव और गुजराती साड़ियां!

अफ़्रीकी चुनाव के लिए साड़ी इमेज कॉपीरइट Prashant Dayal

अगर आपको यह लगता है कि मतदाताओं को लुभाने के लिए चुनाव के दौरान साड़ियां सिर्फ़ भारत में ही बांटी जाती हैं तो यह ख़बर आपके लिए है.

अफ़्रीकी देश नाइजीरिया में हुए आम चुनाव के लिए गुजरात के राजकोट के नज़दीक स्थित जैतपुर के साड़ी उद्योग को लाखों मीटर साड़ियों की प्रिंटिंग का ऑर्डर मिला था.

गुजरात के जैतपुर की पहचान कॉटन साड़ियों की प्रिन्टिंग के लिए है. यहां करीब पांच हज़ार प्रिंटिंग फैक्टरी हैं.

इमेज कॉपीरइट Prashant Dayal

पिछले एक दशक से विदेशों से भी यहां काफी ऑर्डर मिलने लगे हैं. यहां प्रिंटिंग का काम करने वाले दुर्गेश ढांघा के अनुसार नाइजीरिया के चुनावों के लिए जैतपुर की कई रंगाई इकाइयों को साड़ी प्रिंटिंग का ऑर्डर मिला था.

दुर्गेश के अनुसार ऐसा पहली बार नहीं हुआ है लेकिन अंतर यह है कि इस बार यह ऑर्डर काफ़ी बड़ा था.

दुर्गेश बताते हैं कि जैतपुर में करीब 1,500 यूनिटें निर्यात का काम करती हैं. इनमें से करीब 30 यूनिटों को साड़ी प्रिंटिंग का काम मिला.

दुर्गेश यह तो नहीं बता पाते कि ठीक-ठीक ऑर्डर कितने मीटर साड़ियों का है, लेकिन अनुमान लगाते हैं कि करीब 30 लाख मीटर साड़ियां अफ़्रीका जाएंगी.

जैतपुर में सिर्फ़ प्रोसेस ओर प्रिंटिंग का ही काम होता है और इस ऑर्डर के लिए कपड़ा मुंबई के एक बड़े व्यापारी ने सभी रंगाई यूनिटों को दिया.

इमेज कॉपीरइट Prashnat Dayal

बहरहाल एक सवाल तो उठता ही है कि क्या अफ़्रीकी महिलाएं भी साड़ी पहनती हैं?

जैतपुर चैंबर ऑफ़ कॉमर्स के प्रमुख रवि आम्बलिया बताते हैं, "अफ़्रीकी महिलाएं शरीर ढकने के लिए जिस कपड़े का इस्तेमाल करती हैं उसे किटैंगो कहते हैं."

"हमें जिस कपड़े की प्रिंटिंग का ऑर्डर मिला है उसका सिर्फ़ शरीर ढकने के लिए ही नहीं, बैनर के रूप में भी उपयोग किया जा सकता है. चुनाव के बाद या पहले इसे बांटा भी जा सकता है. यह कपड़ा खास तौर पर अफ़्रीकी महिलाओं में लोकप्रिय है."

अमूमन पांच मीटर लंबे और तीन फ़ुट चौड़े इस कपड़े की कटिंग जैतपुर में नहीं होती और इसे यहां से पूरे रोल में ही भेजा जाता है.

आम्बलिया ने बताया की इस कपड़े पर नाइजीरिया के राष्ट्रपति पद के उम्मीवार की फोटो छपी है और उनके साथ उनका चुनाव चिन्ह और स्लोगन है कि मुझे अपना वोट देकर विजयी बनाएं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार