'युवाओं पर थोपी जा रही है मरी हुई विचारधारा'

  • 18 फरवरी 2016
कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी इमेज कॉपीरइट EPA

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा है कि देश के छात्रों पर एक मरी हुई विचारधारा थोपी जा रही है. लेकिन कांग्रेस ऐसा होने नहीं देगी.

जेएनयू विवाद पर राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस नेताओं ने गुरुवार दोपहर राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से मुलाक़ात कर ज्ञापन सौंपा.

राष्ट्रपति से मिलने के बाद राहुल ने संवाददाताओं ने कहा कि उनके पास देशप्रेम के अलावा कुछ नहीं है.

उन्होंने कहा 'राष्ट्रवाद मेरे ख़ून में है.'

उन्होंने कहा कि भारत में अलग-अलग विचारधारा के युवा रहते हैं. लेकिन उन्हें राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की मरी हुई विचारधारा से दबाने की कोशिश की जा रही है.

सरकार और आरएसएस के ख़िलाफ़ बोलने वालों को कुचला जा रहा है. हैदराबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय के रोहित वेमुला के साथ ऐसा ही हुआ था.

इमेज कॉपीरइट ROHITH VEMULA Facebook Page

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा कि देश के छात्रों की रक्षा करना सरकार का काम है.

उन्होंने कहा कि सोमवार को दिल्ली की पटियाला हाउस अदालत में पत्रकारों पर हुए हमले की वजह से दुनिया में भारत की छवि ख़राब हुई है, जबकि भारत विचारों की रक्षा के लिए जाना जाता है.

उन्होंने कहा कि अगर कोई व्यक्ति देश के ख़िलाफ़ कुछ बोलता है तो उसके ख़िलाफ़ सख़्त से सख़्त कार्रवाई होनी चाहिए. लेकिन किसी को परेशान नहीं किया जाना चाहिए.

दिल्ली स्थित जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में नौ फ़रवरी को आयोजित एक कार्यक्रम में कश्मीर की आज़ादी के समर्थन और भारत विरोधी नारे लगने के बाद माहौल गरमा गया है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

दिल्ली पुलिस ने जेएनयू छात्र संघ के अध्यक्ष कन्हैया कुमार को देशद्रोह के आरोप में गिरफ्तार किया है.

कन्हैया की गिरफ्तारी के बाद 13 फरवरी को राहुल गांधी जेएनयू गए थे. वहां उन्होंने कहा था कि आज़ादी का दमन करने वाले देशद्रोही हैं.

राहुल के जेएनयू जाने की भाजपा ने काफी निंदा की थी. भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने राहुल से माफ़ी मांगने की मांग की थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार