न्यूज़ अलर्ट: पूर्व सीएम हुड्डा का अनशन, मोदी-शाह की रैली

  • 21 फरवरी 2016
भूपिंदर सिंह हुड्डा इमेज कॉपीरइट
Image caption हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री हुड्डा दिल्ली में अनशन करेंगे

जिन ख़बरों पर रविवार को नज़र है उनमें हरियाणा में आरक्षण के मुद्दे पर जाट आंदोलन, ओडिशा में प्रधानमंत्री मोदी की रैली और बेंगलुरु में ओपन स्ट्रीट डे की तैयारियां अहम हैं.

हरियाणा में आरक्षण की मांग करते हुए जाट समुदाय के कई लोग कुछ दिनों से सड़कों पर उतरे हुए हैं. कई इलाक़ों में हिसा हुई है और सेना तैनात की गई है.

पूर्व मुख्य मंत्री भूपिंदर सिंह हुड्डा राज्य में शांति बनाए रखने के लिए रविवार से राजधानी दिल्ली के जंतर मंतर पर अनशन करेंगे.

उन्होंने ये भी कहा कि वो राजनीति में नहीं पड़ना चाहते और फिलहाल उनकी प्राथमिकता ये है कि राज्य में शांति बहाल हो.

इमेज कॉपीरइट Reuters

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह रविवार को ओडिशा के बारगढ़ ज़िले में एक किसान रैली को संबोधित करेंगे.

ओडिशा में प्रधानमंत्री और अमित शाह रैली को संबोधित करेंगे. इस सम्मेलन में केंद्रीय कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह समेत कई केंद्रीय मंत्री भी मौजूद होंगे.

Image caption बेंगलुरु की एमजी रोड पर रविवार को नहीं रहेगा ट्रैफिक

बेंगलुरु में रविवार को ओपन स्ट्रीट डे मनाया जाएगा. इसके तहत बेंगलुरु की मुख्य सड़क एमजी रोड पर सुबह 9 बजे से रात 9 बजे तक कोई ट्रैफिक नहीं चलेगा.

बेंगलुरु मेट्रो रेल कोरपोरेशन के मुताबिक, करीब सौ लोग इस सड़क पर अपनी शिल्पकला का प्रदर्शन करेंगे.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption अंतरराष्ट्रीय मातृभाषा दिवस का उद्देश्य है दुनिया की सांस्कृतिक और भाषाई विविधता का संरक्षण

21 फरवरी को दुनिया भर में मातृभाषा दिवस मनाया जाता है. इस मौके पर भारत समेत दुनिया के कई देशों और कई भाषाओं में कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे.

वर्ष 1999 में यूनेस्को की आम सभा में इस दिवस को मनाने की घोषणा की गई थी. इसका उद्देश्य है, दुनिया भर की सांस्कृतिक और भाषाई विविधता का संरक्षण.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption ट्यूनीशिया में आपातकाल की घोषणा पिछले साल 24 नवंबर को हुई

ट्यूनीशिया ने राष्ट्रव्यापी आपातकाल को रविवार से खत्म करने की घोषणा की है. इसके बाद की स्थिति पर हमारी नज़र रहेगी.

इस आपातकाल की घोषणा पिछले साल 24 नवंबर को हुए एक आत्मघाती हमले के बाद की गई थी. इस हमले में सेना के बारह जवान मारे गए थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार