जेएनयू में लगी 'राष्ट्रवाद' की क्लास

जेएनयू इमेज कॉपीरइट AFP

जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी पिछले कुछ दिनों से विवादों के घेरे में है. मुद्दा अफज़ल गुरू की बरसी और कथित रूप से राष्ट्र विरोधी नारों का है.

यूनिवर्सिटी के छात्र संघ के अध्यक्ष कन्हैया गिरफ्तार हैं. कुछ अन्य छात्रों पर भी मामला दर्ज़ हुआ है.

इस बीच, जेएनयू के कुछ शिक्षकों ने शुक्रवार से बच्चों को खुले में ही लेक्चर देने का फैसला किया था. मुद्दा रखा गया 'राष्ट्रवाद' और मुख्य वक्ता रहे पांच जाने-माने प्रोफेसर.

बीबीसी हिंदी आपको राष्ट्रवाद से जुड़े पांच लेक्चर्स के लिंक दे रहा है.

लेक्चर्स की ये सिरीज़ जेएनयू शिक्षक संघ ने आयोजित की है जिसका नाम रखा गया है, 'व्हाट द नेशन रियली नीड्स टू नो: इंडिया द नेशन एंड नेशनलिज़्म'

इमेज कॉपीरइट Youtube

गोपाल गुरू जेएनयू के राजनीति शास्त्र विभाग में प्रोफेसर हैं. और उनके लेक्चर का शीर्षक था- ‘राष्ट्र क्या होता है?’

गोपाल गुरू का लेक्चर यहां देखें
इमेज कॉपीरइट Youtube

जी अरुणिमा- चेयरपर्सन, वुमैन स्टडीज़ विभाग. उनके लेक्चर का शीर्षक था- 'राष्ट्र और उसके क्षेत्र- ये कैसे जुड़ता है.'

यहां देखें अरुणिमा का लेक्चर

एरि सितास- दक्षिण अफ्रीकी प्रोफेसर. शीर्षक- 'दक्षिण अफ्रीका का मतलब भारत'

इमेज कॉपीरइट Youtube
एरि सितास का लेक्चर यहां देखें

आयशा किदवई- 'भाषा और मातृभाषा- भारत का संविधान और भाषाई विविधता'

इमेज कॉपीरइट Youtube
आयशा किदवई का लेक्चर यहां देखें

इसी सिरीज़ के अन्य लेक्चर्स में अचिन विनायक, मोनिका सरकार और मृदुला मुखर्जी कई विषयों पर लेक्चर्स देंगे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार