'पीएम स्मृति पर कार्रवाई करें'

स्मृति ईरानी इमेज कॉपीरइट Getty

रोहित वेमुला के दोस्तों और परिवार ने मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी पर संसद में झूठ बोलने का आरोप लगाया और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से, स्मृति को हटाने की अपील की है.

दिल्ली में आयोजित एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में रोहित के एक दोस्त ने कहा, "झूठे बयान देते वक़्त आप नाटकीयता क्यों दिखा रही हैं. आप रोहित से जुड़े सभी दस्तावेजों को सामने रखिए."

रोहित के दोस्त ने कहा, "रोहित की मौत पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि देश ने एक बेटा खोया है. अगर भारत ने एक बेटा खोया है तो फिर उसी बेटे को राष्ट्रद्रोही क्यों करार दिया जा रहा है. उसी बेटे को आपके एक कैबिनेट मंत्री ने चरमपंथी कह दिया. नरेंद्र मोदी ने बंडारू दत्तात्रेय को क्यों नहीं निकाला. उन्होंने स्मृति ईरानी के ख़िलाफ़ क्यों कोई कार्रवाई नहीं की. उन्होंने रोहित के मुद्दे पर संसद में झूठ कहा. क्या संसद में झूठे बयान देना अपराध नहीं है."

रोहित के दोस्त ने कहा, "हम माननीय प्रधानमंत्री जी से अपील करेंगे कि वो देश को गुमराह करने वाली स्मृति ईरानी पर कठोर कार्रवाई करें."

स्मृति ने संसद में कहा था कि राजनीति की वजह से रोहित के पास किसी डॉक्टर को नहीं जाने दिया गया था.

हैदराबाद यूनिवर्सिटी के छात्र रोहित वेमुला ने ख़ुदकुशी कर ली थी. उनके दोस्तों ने आरोप लगाया था कि दलित होने की वजह से रोहित को तंग किया जा रहा था.

इसी मुद्दे पर गुरुवार और शुक्रवार को स्मृति ईरानी और बहुजन समाज पार्टी प्रमुख मायावती के बीच राज्यसभा में तीखी बहस हो रही है.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार