बजट पर चुटकी- 'एसयूवी महंगी: जाटों से बदला..'

बजट इमेज कॉपीरइट PIB

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बजट पेश किया और राजनीतिक पार्टियों से लेकर समाज के विभिन्न तबके इस पर अपनी प्रतिक्रियाएं देने लगे.

सोशल मीडिया पर भी लोग इस पर चुटकियां लेने में पीछे नहीं रहे.

आम आदमी पार्टी नेता कुमार विश्वास ने ट्वीट किया, "ये सेंसेक्स भी राष्ट्रविरोधी निकला, बजट के दिन लुढ़क गया."

कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने लिखा, "ईमानदार करदाताओं पर जारी वार, काला धन धारकों का बेड़ा पार! ऐसी रही मोदी सरकार."

पेरौडी अकाउंट @RoflGandhi_ से लिखा गया, "राहुल-चाचा बजट का क्या इंतज़ाम है, जेटली-कुछ नहीं बेटा, नए सूटकेस में पुराना सामान है."

रीला तमांग (@ReliaTamang) लिखती हैं, "अच्छा जी, सरकार की कॉर्पोरेट छवि भारी पड़ने लगी, तभी मैं सोचूँ भला इन्हें मनरेगा कैसे प्यारी लगने लगी."

अमृत रे (@iamritray) ट्वीट करते हैं, "अमीरों से थोड़ा पैसा लेकर, ग़रीबों को सबल बनाने का प्रयास किया गया है, ये बजट सबका साथ सबका विकास की भावना के अनुरूप है."

भैय्याजी (@bhaiyyajispeaks) लिखते हैं, "वित्त मंत्री की आंतरिक आलोचना का असर दिख रहा है, तीसरा बजट आम भारतवासियों और किसानों के नाम है, वेलकम बैक अरुण जेटली."

अखिलेश शर्मा (@akhileshsharma1) लिखते हैं, "वित्त मंत्री अरुण जेटली के लिए सबसे बड़ी कामयाबी ये है कि बीजेपी के मार्गदर्शक मंडल ने उनके बजट की जमकर तारीफ़ की है."

दिवाकर (@PainoliD) ने ट्वीट किया, "अगर इनकम टैक्स की बात की जाए तो लोगों को काफी उम्मीदें थी, लेकिन सरकार ने लोगों को निराश किया है."

सोनी (@sonisinghall) ने ट्वीट किया, "होटल में खाना, सोने और हीरे के गहने, ब्रांडेड कपड़े, सिनेमा सब महंगा. ये बजट महिला विरोधी है."

राजीव राय ने फ़ेसबुक पर चुटकी लेते हुए लिखा, "सिगरेट महंगी: जेएनयू से बदला, गुटखा महंगा: बिहार से बदला, एसयूवी महंगी: जाटों से बदला. ये सरकार हार का बदला ले रही है जी.."

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)