माल्या नहीं निकाल पाएंगे 504 करोड़ रुपए

  • 7 मार्च 2016
इमेज कॉपीरइट Reuters

उद्योगपति विजय माल्या को सोमवार को उस वक़्त बड़ा झटका लगा, जब कर्ज़ वसूली ट्रिब्यूनल ने उनकी लगभग 504 करोड़ रुपए की रकम फ्रीज़ कर दी.

ट्रिब्यूनल के इस फ़ैसले के बाद माल्या अमरीकी कंपनी डियाजिओ से मिले 7.5 करोड़ डॉलर यानी करीब 504 करोड़ रुपए नहीं निकाल पाएंगे.

माल्या ने 2013 में अपनी कंपनी यूनाइटेड स्प्रिट्स लिमिटेड (यूएएल) में बड़ी हिस्सेदारी डियाजिओ को बेच दी थी.

ट्रिब्यूनल ने कहा है कि भारतीय स्टेट बैंक के साथ मामला सुलझने तक रकम निकालने पर पाबंदी बनी रहेगी.

3 मार्च को बैंक ने बैंगलुरू स्थित ट्रिब्यूनल में कर्ज़ नहीं चुकाने को लेकर माल्या के ख़िलाफ़ कार्रवाई की अपील की थी.

भारतीय स्टेट बैंक की अगुवाई वाले कंसोर्शियम का किंगफिशर एयरलाइंस पर लगभग 7500 करोड़ रुपए का कर्ज़ है. इसके अलावा किंगफ़िशर को यूनाइटेड बैंक का लगभग 350 करोड़ रुपए का कर्ज़ भी चुकाना है.

इससे पहले, प्रवर्तन निदेशालय ने उद्योगपति विजय माल्या के ख़िलाफ़ कर्ज़ वसूली के लिए सीबीआई की शिकायत पर हवाला का मामला दर्ज कर लिया.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) जल्द ही विजय माल्या से पूछताछ कर सकता है. ईडी जाँच करेगा कि कहीं उन्होंने बैंकों से लिया पैसा विदेशों में तो नहीं लगाया है.

इमेज कॉपीरइट

विजय माल्या की निष्क्रिय किंगफ़िशर एयरलाइन्स को बैंकों के कई हज़ार करोड़ रुपए चुकाने हैं.

इस बीच, विजय माल्या ने रविवार को एक बयान जारी कर कहा है कि वह भगोड़े नहीं हैं और बैंकों को 'एकमुश्त अदायगी' के लिए प्रयास कर रहे हैं.

उन्होंने आरोप लगाया कि उनके ख़िलाफ़ 'गलत सूचनाओं के साथ अभियान' चलाया जा रहा है और उनकी छवि कर्ज़ न चुकाने वाले की बनाई जा रही है.

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार एसबीआई सहित 13 बैंकरों ने माल्या की गिरफ़्तारी और उनका पासपोर्ट ज़ब्त करने के अनुरोध के साथ हाई कोर्ट में याचिका दायर की है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार