श्री रविशंकर को जेल पहुंचाओ: शरद यादव

शरद यादव

दिल्ली में यमुना के किनारे शुक्रवार से हो रहे आध्यात्मिक गुरु श्री रविशंकर के कार्यक्रम को लेकर राज्यसभा में ज़ोरदार हंगामा हुआ.

सदन में जनता दल (यूनाइडेट) के शरद यादव ने कहा कि श्री रविशंकर ने जुर्माना देने से भी इनकार कर दिया है. उन्होंने पूछा, "क्या वो सिस्टम से ऊपर हैं."

उन्होंने इस मुद्दे पर सरकार पर मिलीभगत का आरोप लगाते हुए श्री रविशंकर को जेल पहुँचाने की मांग की.

कांग्रेस के जयराम रमेश ने कहा कि यमुना किनारे इकोलॉजिकल सिस्टम को नुक़सान पहुँचाया जा रहा है.

संसदीय कार्य राज्य मंत्री मुख़्तार अब्बास नक़वी ने कहा कि विपक्षी सदस्य पूर्वाग्रह से ग्रस्त हैं. उन्होंने कहा कि इस मुद्दे का राजनीतिकरण नहीं किया जाना चाहिए.

यमुना के पर्यावरण को नुकसान का हवाला देकर इस आयोजन को नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) में चुनौती दी गई थी जिस पर एनजीटी ने ऑर्ट ऑफ लिविंग संस्था, दिल्ली प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड और डीडीए पर जुर्माना लगाते हुए कार्यक्रम को हरी झंडी दी थी.

इस बीच, एनजीटी ने पाँच करोड़ रुपए का जुर्माना चुकाने के लिए चार हफ़्तों का समय मांगा है.

ट्रिब्यूनल में सुनवाई के दौरान ऑर्ट ऑफ़ लिविंग ने दलील दी कि वे एक चैरिटेबल संस्था हैं और इतने कम समय में पाँच करोड़ रुपए जुटाना मुश्किल है.

इमेज कॉपीरइट Vineet Khare

ट्रिब्यूनल ने कहा कि जुर्माने की रकम से उस इलाके को बायोडाइवर्सिटी पार्क के रूप में विकसित किया जाना चाहिए.

इससे पहले, एनजीटी ने पांच करोड़ रूपए का जुर्माना भरने की डेडलाइन को शुक्रवार तक के लिए बढ़ा दिया था.

पहले एनजीटी ने आदेश दिया था कि ये पैसे गुरुवार शाम तक जमा कराए जाएं नहीं तो यमुना तट पर ‘वर्ल्ड कल्चर फ़ेस्टिवल’ के आयोजन की इजाज़त रद्द हो सकती है.

दिल्ली में यमुना नदी के तट पर 11 से 13 मार्च तक ‘वर्ल्ड कल्चर फ़ेस्टिवल’ आयोजित किया जा रहा है जिसमें कई देशों से हज़ारों लोगों के शामिल होने की संभावना है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार