घायल घोड़े को गवांनी पड़ी टांग

  • 18 मार्च 2016
इमेज कॉपीरइट PTI

सोमवार को बीजेपी के प्रदर्शन के दौरान घायल पुलिस के घोड़े 'शक्तिमान' का पैर एक आपातकालीन जीवन रक्षक सर्जरी में काटना पड़ा है. इस मामले में बीजेपी के एक कार्यकर्ता को गिरफ्तार कर लिया गया.

उत्तराखंड के पुलिस महानिदेशक बीएस सिद्धू ने कहा है गैंगरीन फैलने के डर से घोड़े का पांव काटना पड़ा है.

उन्होंने बताया कि घोड़े के घायल पैर में खून का पहुंचना बंद हो गया था और ऐसी हालत में अगर तत्काल टांग नहीं काटी जाती तो घो़ड़े में गैंगरीन फैल जाता और इससे घोड़े की मौत हो सकती थी.

इस बीच, घोड़े के घायल होने के मामले में एक भाजपा कार्यकर्ता को गिरफ़्तार किया गया है.

उत्तराखंड पुलिस के आईजी संजय गुंज्याल ने बीबीसी को बताया कि 14 तारीख़ की घटना के तीन दिन बाद नैनीताल ज़िले के हल्द्वानी के भाजपा कार्यकर्ता प्रमोद बोरा को पुलिस ने गिरफ़्तार कर लिया है.

उन पर जबरन घोड़े की लगाम खींचने का आरोप है जिसके बाद घोड़ा शक्तिमान गिर गया था.

मसूरी से भाजपा के विधायक गणेश जोशी पर आरोप है कि उन्होंने लाठी से पीट-पीटकर घोड़े की टांग तोड़ डाली. लेकिन जोशी इससे साफ़ इनकार करते हैं और कांग्रेस पर घोड़े को बलि का बकरा बनाने का आरोप लगा रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट PTI

हालांकि इस मामले पर घिरी भाजपा हालात को डैमेज कंट्रोल में जुट गई है. भाजपा ने पार्टी के उत्तराखंड प्रभारी श्याम जाजू को देहरादून भेजा गया हैं जहां वो विधायकों की बैठक ले रहे हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए