उमर और अनिर्बान को अंतरिम ज़मानत मिली

उमर खालिद और अनिर्बान भट्टाचार्य इमेज कॉपीरइट AFP

दिल्ली की एक अदालत ने राष्ट्रद्रोह के मामले में गिरफ़्तार जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय के छात्रों उमर ख़ालिद और अनिर्बान भट्टाचार्य को छह-छह महीने की अंतरिम ज़मानत दे दी है.

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश रीतेश सिंह ने दोनों छात्रों को 25,000 रुपये के निजी बॉंड और इतनी ही राशि की ज़मानत जमा करने का आदेश दिया.

जज ने कहा, "मैं दोनों को छह महीने की अंतरिम ज़मानत दे रहा हूं." अदालत ने कहा कि दोनों बिना इजाज़त के देश नहीं छोड़ सकते.

इमेज कॉपीरइट Reuters

इन छात्रों को अदालत ने 23 फ़रवरी को पुलिस के सामने आत्मसमर्पण किया था.

अदालत ने इसी मामले में जेएनयू छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार को भी छह महीने की अंतरिम ज़मानत दे दी थी.

कन्हैया, उमर ख़ालिद, अनिर्बान और आशुतोष समेत छह छात्रों पर नौ फ़रवरी को विश्वविद्यालय परिसर में आयोजित एक कार्यक्रम में कथित तौर पर भारत विरोधी नारे लगाने का आरोप है.

इमेज कॉपीरइट pti

दरअसल इस कार्यक्रम का एक वीडियो सामने आने के बाद भाजपा सांसद महेश गिरि ने पुलिस में शिकायत दर्ज़ कराई थी.

यह कार्यक्रम संसद हमले के दोषी अफ़ज़ल गुरु की बरसी पर आयोजित किया गया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार