आज भारत आएगा पाकिस्तान का जांच दल

  • 27 मार्च 2016
पठानकोट हमला इमेज कॉपीरइट AP

आज जिन ख़बरों पर नज़र रहेगी उनमें पठानकोट चरमपंथी हमलों के संबंध में जांच के लिए पाकिस्तानी टीम का भारत दौरा, उत्तराखंड में कांग्रेस की सरकार बचाने की कोशिशें और वर्ल्ड टी-20 में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच मुक़ाबला प्रमुख हैं.

पठानकोट हमले की जांच के लिए पांच सदस्यों का पाकिस्तानी संयुक्त जांच दल आज भारत पहुंच रहा है.

पाकिस्तानी जांच दल को पठानकोट एयरबेस में जाने की इजाज़त नहीं होगी. उसे हमले से संबंधित कुछ इलाकों में ही जाने दिया जाएगा.

यह दल दो जनवरी को हुए पठानकोट हमले के मामले में गवाहों से पूछताछ करेगा लेकिन उसे एनएसजी और अन्य सुरक्षा बलों से पूछताछ करने की अनुमति नहीं होगी.

इमेज कॉपीरइट PIB

उत्तराखंड में सभी की निगाहें सरकार के भविष्य पर टिकी हैं. हरीश रावत सरकार को 28 मार्च को बहुमत साबित करना है.

दल-बदल निषेध क़ानून के तहत विधानसभा अध्यक्ष गोविंद सिंह कुंजवाल ने नौ बाग़ी विधायकों को जो नोटिस दिया था उसका जवाब उन्हें शनिवार तक देना था.

स्पीकर बाग़ी विधायकों की सदस्यता के मुद्दे पर आज फ़ैसला कर सकते हैं.

उत्तराखंड संकट को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय कैबिनेट की कल रात बैठक हुई जिसमें राज्य में पैदा हुई स्थिति और राष्ट्रपति शासन की संभावनाओं पर विचार हुआ.

इमेज कॉपीरइट AP

वर्ल्ड टी-20 में आज मोहाली में भारत और ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ अहम मैच खेला जाएगा.

जो भी टीम ये मैच जीतेगी वो सेमीफ़ाइनल में जाएगी और हारने वाली टीम का सफ़र टूर्नामेंट में ख़त्म हो जाएगा.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज रेेडियो पर 'मन की बात' करेंगे. यह इस कार्यक्रम की 18वीं कड़ी है.

इमेज कॉपीरइट AFP

बेल्जियम की राजधानी ब्रसेल्स में हुए सीरियल ब्लास्ट के बारे में और कई अहम जानकारियां सामने आ सकती हैं.

इन हमलों को लेकर एक व्यक्ति पर चरमपंथ के आरोप लगाए गए हैं. हमलों में 31 लोग मारे गए थे.

इमेज कॉपीरइट Getty

रूस समर्थित सीरिया की फ़ौजें पल्मायरा शहर में कट्टरपंथी सुन्नी संगठन इस्लामिक स्टेट के ख़िलाफ़ जंग लड़ रही हैं.

सीरिया के सरकारी टेलीविज़न ने दावा किया है कि शहर के कई हिस्सों को सेना ने विद्रोहियों ने मुक्त करा लिया है.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार