औरतों को मिला शनि मंदिर में प्रवेश का अधिकार

शनि शिगणापुर इमेज कॉपीरइट SHANIDEV.COM

मुंबई हाईकोर्ट ने शनि शिगणापुर मंदिर में औरतों के प्रवेश पर पाबंदी को ग़लत बताया है.

समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार अदालत ने कहा है कि महिलाओं को शनि शिगणापुर मंदिर में प्रवेश से नहीं रोका जा सकता. कोर्ट ने अपने आदेश में कहा कि जहां पुरुष जा सकते हैं, वहां महिलाएं भी जा सकती हैं.

ये मामला 29 नवंबर को तब उछला था जब एक महिला ने अहमदनगर ज़िले के शनि शिगणापुर मंदिर में चबूतरे पर चढ़कर शिला पर तेल चढ़ा दिया था. इसके बाद पुजारियों ने कहा कि शनि देव अपवित्र हो गए हैं और उनका दूध से अभिषेक किया गया.

शिगणापुर में शनि शिला एक चबूतरे पर है और इस चबूतरे पर महिलाओं को जाने की अनुमति नहीं है.

इमेज कॉपीरइट Charukesi Ramadurai

इसके बाद जनवरी में भूमाता ब्रिगेड नाम के संगठन ने शनि शिगणापुर मंदिर जाकर शनि शिला पर तेल चढ़ाने का ऐलान किया था जिन्हें वहां तक नहीं जाने दिया गया. सरकार इस मामले को बातचीत से सुलझाने की कोशिश कर रही थी.

श्री शनिश्वर देवास्थान ट्रस्ट के जनसंपर्क अधिकारी अनिल दराडले ने 27 जनवरी को बीबीसी से बातचीत में कहा था कि 2011 तक पुरुष ऊपर तक जाते थे लेकिन भीड़ के लगातार बढ़ते जाने के कारण अब उन्हें भी नहीं जाने दिया जाता.

उन्होंने कहा था कि कोई भी आकर देख सकता है कि जहां तक पुरुष जाते हैं, वहीं तक महिला भी जाती हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार