बर्धमान धमाके का एक संदिग्ध गिरफ़्तार

असद अली उर्फ असादुल्ला इमेज कॉपीरइट Dilip Sharma

असम पुलिस ने बांग्लादेश के प्रतिबंधित चरमपंथी संगठन जमात-उल-मुजाहिदीन (जेएमबी) के एक संदिग्ध को ख़ुफ़िया सूचना के आधार पर गिरफ्तार कर लिया है.

पुलिस का कहना है कि असद अली उर्फ असादुल्ला नाम के इस संदिग्ध को करीमगंज जिले के सुतारकांदी से उस समय गिरफ्तार किया गया जब वह बांग्लादेश भागने की कोशिश में था. पश्चिम बंगाल के बर्धमान में हुए धमाके के सिलसिले में पुलिस को इसकी तलाश थी.

करीमगंज जिले के पुलिस अधीक्षक प्रदीप रंजन कर ने बीबीसी से गिरफ्तारी की पुष्टि की.

असादुल्ला असम के नलबाड़ी जिले के मुकालमुआ थाना क्षेत्र के कपलाबाड़ी गांव का निवासी है.

करीमगंज पुलिस का कहना है कि उसने असादुल्ला को गिरफ्तार करने के बाद असम पुलिस की स्पेशल ब्रांच को सौंप दिया है.

जेएमबी के ख़िलाफ़ दर्ज एक मामले के तहत जांच में जुटे अधिकारियों ने उन्हें अदालत के समक्ष पेश करने के बाद 10 दिन की हिरासत में लिया है. इससे पहले पुलिस ने चिरांग जिले से जेएमबी के 6 संदिग्ध चरमपंथियों को गिरफ्तार किया था.

इमेज कॉपीरइट Dilip Sharma

असम के पुलिस महानिदेशक मुकेश सहाय ने मीडिया से कहा कि असादुल्ला राज्य के उन 6 जेएमबी सदस्यों में से था.

पुलिस महानिदेशक के अनुसार निचले असम के कई जिलों में जेएमबी जैसे चरमपंथी संगठन की सक्रियता रही है, ऐसे में पुलिस किसी को मौका नहीं दे सकती.

बर्धमान शहर के खागरागढ़ इलाके में 2 अक्टूबर, 2014 एक किराए के मकान में "आकस्मिक" बम विस्फोट हुआ था जिसमें दो लोग मारे गए थे और एक व्यक्ति गंभीर रूप से घायल हो गया था.

इस विस्फोट के बाद बांग्लादेश के इस चरमपंथी नेटवर्क और जेएमबी द्वारा समूचे देश में व्यापक तौर पर हिंसा फैलाने की कोशिश के बारे में पता चला था. बर्धमान विस्फोट मामले में एनआईए आरोप पत्र दाखिल कर चुकी है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार