'लाखों की गर्दन काट सकते हैं लेकिन..'

  • 4 अप्रैल 2016
बाबा रामदेव (फ़ाइल फोटो)

योग गुरु बाबा रामदेव के भारत माता की जय बोलने को लेकर दिए एक बयान से विवाद हो गया है.

रामदेव ने हरियाणा के रोहतक में एक कार्यक्रम में कहा कि वो संविधान और क़ानून का सम्मान करते हैं, नहीं तो सैकड़ों-हज़ारों सिर धड़ से अलग कर देते.

रामदेव ने कहा, "कोई आदमी टोपी पहनकर खड़ा हो जाता है. बोलता है कि मैं भारत माता की जय नहीं बोलूंगा चाहे मेरी गर्दन काट लो, अरे इस देश में कानून है वरना तेरी एक की क्या हम तो लाखों की गर्दन काट सकते हैं, लेकिन हम इस देश के क़ानून का सम्मान करते हैं."

इमेज कॉपीरइट KRITSIH BHATT

कुछ ही दिन पहले ऑल इंडिया मजलिस इत्तेहादुल मुसलमीन के अध्यक्ष और सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने कहा था कि अगर कोई उनकी गर्दन पर छुरी भी रख दे तब भी वो भारत माता की जय नहीं बोलेंगे.

हालाँकि रामदेव ने अपने भाषण में ओवैसी का नाम नहीं लिया.

हाल ही में देवबंद स्थित इस्लामिक तालीम के प्रमुख केंद्र दारुल उलूम ने एक फतवा जारी करते हुए कहा था कि भारत माता की जय का नारा लगाना इस्लाम धर्म में उचित नहीं है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार