पनामा पेपर्स पर नज़र है, कार्रवाई होगी: जेटली

इमेज कॉपीरइट PIB

पनामा की मोसाक फोंसेका कंपनी के एक करोड़ दस लाख गोपनीय दस्तावेज़ लीक हुए हैं.

इन दस्तावेज़ों से पता चलता है कि मोसाक फोंसेका ने किस तरह अपने ग्राहकों को कर बचाने, कर की चोरी, काले धन को वैध बनाने और प्रतिबंधों से बचने में मदद की.

पढ़ें - कैसे करते हैं ताकतवर रईस धन की हेरा-फेरी

अब तक लीक हुए दस्तावेज़ों के मुताबिक इनमें 12 वर्तमान राष्ट्राध्यक्षों और विश्व स्तर के 60 वर्तमान या पूर्व नेताओं से जुड़े लोगों के नाम शामिल हैं.

पनामा पेपर्स के बारे में यहाँ जानें.

इसमे कुछ भारतीय सेलीब्रेटी और कारोबारियों के नाम भी सामने आए हैं.

पढ़ें- पुतिन के दोस्त ने ऐसे बनाए करोड़ों डॉलर

इस पर भारत के वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा है कि गैर क़ानूनी ढंग से विदेशों में पैसा रखने वाले हर किसी पर कार्रवाई होगी.

वित्त मंत्री ने आगे कहा, “प्रधानमंत्री की सलाह पर कई एजेंसियों का ग्रुप बनाया गया है जिसमें सीबीडीटी और आरबीआई शामिल हैं जो इन जानकारियों पर नज़र रख रही हैं और कार्रवाई करेंगी.”

उन्होंने पनामा पेपर्स की लीक का स्वागत किया है. उन्होंने कहा, “मैं ऐसी छानबीन और पर्दाफ़ाश का स्वागत करता हूं.”

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार