अब औरतें भी शनि देव पर तेल चढ़ा सकेंगी

  • 8 अप्रैल 2016
इमेज कॉपीरइट SHANIDEV.COM

अदालत के हुक्म के बावजूद महिलाओं को मुख्य चबूतरे पर न जाने देने की ज़िद पर अड़े शनि शिंगणापुर मंदिर ट्रस्ट ने कहा है कि अब औरतें भीं मुख्य शिला पूजन कर सकती हैं.

इसके साथ ही मंदिर में पूजन की 400 पुरानी मान्यता समाप्त हो गईं जिसमें औरतों को शनि मंदिर के मुख्य चबूतरे पर प्रवेश का अधिकार नहीं था.

मुंबई हाई कोर्ट ने चंद दिनों पहले फ़ैसला दिया था कि मंदिर में प्रवेश को लेकर स्त्री-पुरुष में फ़र्क़ नही किया जा सकता है. लेकिन जब औरतों के एक समूह ने इसकी कोशिश की तो पुलिस ने उन्हें रोक दिया था.

इमेज कॉपीरइट

शुक्रवार को गुड़ी पाड़वा के मौक़े पर परम्परा के मुताबिक़ लोग वहां पहुंचे लेकिन सुरक्षाकर्मी उन्हें रोकना चाहते थे. लेकिन सौ से अधिक ग्रामीण ने इसके बावजूद मंदिर में घुसने में कामयाब हो गए.

ग्रामीण हर साल की तरह कांवडियों से लाये जल से अभिषेक करना चाहते थे. इसके बाद मंदिर ट्रस्ट ने नया फ़ैसला लिया.

हालांकि मंदिर में प्लेटफार्म पर चढ़कर पूजा की अनुमति अब तक न पुरुषों को है ना महिलाओं को.

केवल एक पुजारी अब प्लेटफार्म पर चढ़कर पूजा कर सकता है.

मंदिर ट्रस्ट ने उच्च न्यायालय में भी शपथ पत्रपर यही कहा है.

लेकिन इस फैसले से मंदिर ट्रस्ट की मुश्किलें काम होने के बजाय बढ़ती नज़र आ रही हैं.

कोर्ट के फैसले के बाद ट्रस्ट को अपनी परंपरा बदलने पर मजबूर होना पड़ा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार